एनजीटी ने दिए यमुना खादर में बनी कॉलोनियों को ध्वस्त करने के निर्देश
May 13th, 2020 | Post by :- | 117 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता )एनजीटी ने वृंदावन में यमुना डूब क्षेत्र में बसी कॉलोनियों को ध्वस्त करने के आदेश जारी किए तो यहां बसे लोगों के होश उड़ गए। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) में आकाश वशिष्ठ की याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने यमुना खादर में हुए निर्माण को अवैध करार देते हुए इसे 31 अगस्त तक ध्वस्त करने के आदेश जिला प्रशासन को दिए हैं। तीसरी बार एनजीटी ने यमुना किनारे बसी अवैध कॉलोनियों को ध्वस्तीकरण के आदेश पारित किए हैं। इससे पहले एनजीटी के आदेश पर 23 सितंबर 2018 को जिला प्रशासन ने वाराह घाट से सूरज घाट तक अवैध निर्माण को ध्वस्त किया था। इस दौरान उच्च न्यायालय से स्टे मिलने के बाद जिला प्रशासन ने कार्रवाई स्थगित कर दी थी। एक बार फिर एनजीटी के आदेश के बाद डूबक्षेत्र में बसे लोगों की नींद उड़ गई है। लोगों का कहना है कि कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन ने उनकी मजदूरी, रोजगार सबकुछ छीन लिया। परिवार को पालने में ही बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में घर-बार उजड़ गया तो वे सड़क पर आ जाएंगे। उनके पास न खाने को है और घर टूटे तो रहने के लिए भी छत नहीं होगी। लोगों का कहना है कि एक बार उनका दर्द भी सुना जाना चाहिए। यहां मकान बनाने की अनुमति जिन अधिकारियों ने दी, उनके खिलाफ भी कार्रवाई हो।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।