राजमार्ग पर पैदल जा रहे श्रमिकों को विधायक ने उपलब्ध कराए वाहन
May 13th, 2020 | Post by :- | 43 Views
होडल, (मधुसूदन भारद्वाज):  राष्ट्रीय राजमार्ग पर दिल्ली,फरीदाबाद,गुडगांव व  आसपास के अन्य जिलों से पैदल निकलने वाले प्रवासी श्रमिकों के आने का सिलसिला  लगातार जारी है। दिन हो या रात, पिछले लगभग एक सप्ताह से प्रवासी श्रमिक पैदल या साईकिल के माध्यम से लगातार यूपी की तरफ निकलते दिखाई दे रहे हैं। हालंाकि पिछले सप्ताह यूपी पुलिस प्रशासन ने हरियाणा से यूपी सीमा में प्रवेश करने वाले प्रवासी श्रमिकों पर रोक लगा दी थी,लेकिन हरियाणा और यूपी पुलिस के उच्च अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद ही मामला सुलझ सका, जिसके बाद ही श्रमिकों को यूपी की तरफ रवाना किया गया। हालांकि राजमार्ग से निकलने वाले प्रवासी महिला पुरुष श्रमिकों के भोजन आदि की सामाजिक संगठनों व स्थानीय विधायक जगदीश नायर द्वारा लगातार व्यवस्था भी की जाती रही है,लेकिन उसके बावजूद भी कुछ श्रमिकों को परेशानी का सामना करना पड रहा है। राष्ट्रीय राजमार्ग से यूपी की तरफ जा रहे सैंकडों महिला पुरुष प्रवासी श्रमिकों को स्थानीय विधायक जगदीश नायर ने हसनपुर चौक पहुंचकर उनके जाने के लिए वाहनों का इंतजाम किया। वाहनों में बैठने से पहले सभी महिला पुरुषों को सैनेटाईज कराया गया। मास्क व खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई गई और शारीरिक दूरी बनाकर वाहन में बैठाया गया। यहां दर्जनों महिला पुरुष श्रमिकों ने विधायक नायर को अपनी समस्याओं से भी अवगत कराया। उन्होंने बताया कि जिन जगहों पर मेहनत मजदूरी कर अपनी आजीविका चला रहे थे, लाक डाउन के बाद उनका वहां रहना कठिन हो चुका है। मकान मालिक किराया मांगते हैं लेकिन लाक डाउन के कारण पिछले दो महीनेां से काम ही नहीं मिला, जिसके कारण अब उनके पास पैसे भी खत्म हो चुके हैं। उनके काफी साथी तो पिछले महीने ही गांवों के लिए चले गए थे। पिछले कई कई दिनों से पैदल चल रही महिलाओं ने भी अपनी व्यथा बताई और कहा कि कई महीनों से काम नहीं मिलने के कारण आर्थिक स्थिती खराब हो चुकी है। छोटे छोटे बच्चों के साथ परिवार चलाना मुशिकल हो गया है। बच्चों को दूध,दवा आदि दिलाने के पैसे तक नहीं हैं। मजबूरी में उन्होंने गांव लौटने का मन बनाया है। अब कभी जब यहां फैक्टरी आदि शुरु होंगी तो उसके बाद ही यहां आने की सोचेंगे। विधायक नायर ने बताया कि उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार में केबिनेंट मंत्री लक्ष्मीनायण से बातचीत कर उन्हें अवगत कराया कि हरियाणा व अन्य स्थानों से यूपी की तरफ जाने वाले काफी श्रमिक पैदल और साईकिलों के माध्यम से जा रहे हैं, लेकिन कई दिनों से यूपी पुलिस ने उनके प्रवेश पर रोक लगाई हुई थी। उन्होंने बताया कि केबिनेंट मंत्री से बातचीत के बाद प्रवासी श्रमिकों को यूपी सीमा में प्रवेश कर आगे जाने दिया जा रहा है। हरियाणा के अलावा अन्य प्रदेश सरकारों द्वारा श्रमिकों के पलायन पर रोक लगाने का प्रयास किया जा चुका है,लेकिन फिलहाल श्रमिक नहीं रुक पा रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।