65 वर्ष से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों, बीमार लोगों, गर्भवती महिलाओं और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को घर पर ही रहना होगा।
May 12th, 2020 | Post by :- | 41 Views

नारायणगढ़/अम्बाला:(अशोक शर्मा) एसडीएम अदिति ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी का खतरा अभी टला नहीं है। सरकार द्वारा क्रमबद्ध ढंग से लॉकडाउन में कुछ ढील देकर दुकान आदि प्रतिष्ठान खोलने की अनुमति दी गई है। लेकिन लोग इसका अर्थ बिल्कुल भी यह न निकाले की उन्हें बेवजह घर से बाहर घूमने की अनुमति मिल गई है। बाजर में भी वहीं लोग जाए जिन्हें कुछ सामान आदि खरीदना है या फिर जरूरी कार्य है।
उन्होने कहा कि 65 वर्ष से ज्यादा उम्र के व्यक्तियों, बीमार लोगों, गर्भवती महिलाओं और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को आवश्यक जरूरतों और स्वास्थ्य उद्देश्यों को छोडक़र घर पर ही रहना है। ये लोग बिल्कुल भी बाजार न जाएं और घर में ही रहे। उन्होंने कहा कि हम जितना अधिक एक दूसरे से दूर रहेगें यानि सामाजिक दूरी बनाये रखेगें उतना ही हम सभी कोरोना वायरस से सुरक्षित रह पायेगें। उन्होने यह भी कहा कि जब तक कोई वैक्सीन या समाधान नहीं ढूंढ लिया जाता है, तब तक कोरोना वायरस से लडऩे के लिए हमारे पास सबसे बड़ा हथियार सामाजिक दूरी बनाये रखना ही है। उल्लेखनीय है कि गत दिवस प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से विचार-विमर्श के दौरान कोरोना वायरस से बचाव के लिए ‘दो गज की दूरी’ के महत्व पर फिर से जोर दिया है। हमारे पास दोहरी चुनौती है – बीमारी के संक्रमण की दर को कम करना एवं सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सार्वजनिक गतिविधियों को धीरे-धीरे बढ़ाना और हमें इन दोनों ही उद्देश्यों की पूर्ति करने की दिशा में काम करना होगा। महामारी के फैलने पर अंकुश लगाने के लिए सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों, मास्क के उपयोग और स्वच्छता पर सख्ती से ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।