करीब 50 लाख रूपये की लागत से तैयार होगी जिलें की सड़के।
May 12th, 2020 | Post by :- | 31 Views

करनाल, हरियाणा (रजत शर्मा)। यातायात को सुविधाजनक बनाने के लिए शहर की आंतरिक सड़कों का काम जोरों से चल रहा है। नगर निगम की ओर से सैक्टर-13 की विभिन्न सड़कों को सुदृढ़ बनाने के बाद अब सड़क निर्माण में लगी पेवर फिनीशर मशीन, शहर के अस्पताल चौक से मॉडल टाऊन जाने वाली रोड पर तारकोल से सनी बजरी फैंकती और उसे समतल बनाते रोड रोलर ठकठक की आवाज करते दिखाई दे रहे है।

उपायुक्त एवं नगर निगम आयुक्त निशांत कुमार यादव ने मंगलवार को साईट पर जाकर काम की प्रगति देखी और निगम के इंजीनियरों से इस बात की जानकारी ली कि यह काम कब तक निपटाया जाएगा। बता दें कि शहर की व्यस्त सड़कों में से एक यह सड़क मॉडल टाऊन जाने के लिए वैसे भी बहुत उपयोगी व मुख्य मार्ग रहा है, जो बेमौसमी बारिश से क्षतिग्रस्त हो गई थी।

लॉकडाउन ने भी सड़क को सुदृढ़ बनाने का रास्ता रोका, लेकिन सड़क पर चलते वाहनों और नागरिकों की परेशानी को देखते उपायुक्त ने इसे अच्छे तरीके से दुरूस्त करने के निर्देश दिए और अब यहां युद्धस्तर पर काम हो रहा है, जो अगले 10 दिनो में निपट जाएगा। उपायुक्त के निरीक्षण के दौरान खास बात यह रही कि उन्होंने अपनी उपस्थिति में सड़क पर डाले जा रहे मैटिरियल की क्वालिटी और गहराई को दो जगहों से गेज़ लगवाकर चैक किया और संतुष्ट हुए।

सड़क पर 50 एम.एम. बिटुमिन मैकेडम और 25 एम.एम. प्रिमिक्स कंक्रीट डाला जा रहा है। इससे पहले सड़क पर मिलिंग की गई, जिसमें औसतन 50 एम.एम. सतह तक पुरानी तारकोल युक्त बजरी उखाड़ी जाती है। करीब 50 लाख रूपये की लागत से तैयार हो रही सड़क, अस्पताल चौक से मॉडल टाऊन टी-प्वाईंट तक 700 मीटर लम्बी है, जबकि इसकी चौड़ाई 12 मीटर है।

निरीक्षण के बाद उपायुक्त ने निगम अधिकारियों को निर्देश दिए कि क्वालिटी का पूरा ध्यान रखा जाए और साफ-सुथरे तरीके से ऐसा काम हो कि पाश इलाके में जाने वाली सड़क चकाचक लगे, इस पर बाद में मार्किंग भी करें। उन्होंने कहा कि शहर की सड़कें सुंदर होंगी, तो नागरिकों को सुकून के साथ-साथ सुविधा भी मिलेगी।

इस अवसर पर नगर निगम के मुख्य अभियंता रमेश मंढान, कार्यकारी अभियंता अक्षय भारद्वाज व गौरव गोयल, सहायक इंजीनियर सुनील भल्ला व सतीश कुमार मित्तल तथा कनिष्ठ अभियंता सतीश शर्मा भी मौजूद थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।