एडीजीपी आरसी मिश्रा ने पलवल का दौरा कर जिला पुलिस अधिकारियो को आवश्यक निर्देश दिए।
May 12th, 2020 | Post by :- | 30 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- लॉक डाउन के बाद से ही एडीजीपी आर सी मिश्रा एक के बाद एक पलवल जिले का दौरा कर पलवल जिले पर अपनी नजर बनाए हुए है। इस मौके पर उनके साथ पुलिस कप्तान दीपक गहलावत भी मौजूद रहे। लॉक डाउन के बाद से ही एडीजीपी आर सी मिश्रा ने एक के बाद एक पलवल जिले का दौरा कर जिला और राज्य के नाको पर अपनी नजर बनाए हुए है। इसी कड़ी में एडीजीपी आर सी मिश्रा ने मंगलवार को भी पलवल दौरे के दौरान प्रवासी मजदूरों के पलायन पर भी संज्ञान लिया और जिला पुलिस के अधिकारियो को भी आवयशक निर्देश दिए।

एडीजीपी मिश्रा ने कहा कि लॉक डाउन में अब धीरे-धीरे ढील दी जा रही है और अब शहर में भी चहल पहल व वाहनों का आवागमन शुरू हो चूका है। इस दौरान पुलिस प्रशासन द्वारा जिले के लोगो को सख्त निर्देश दिए गए है कि सभी अपने घरो से बाहर मास्क लगा कर ही निकले और अगर कोई भी पुलिस को सडक़ो या बाजारों में बिना मास्क के दिखाई देता है तो उसे जागरूक भी किया जाता है कि वह अपने घरो से बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग करे और अगर उसके बावजूद कोई नहीं मानता है, तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जाती है।

उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन द्वारा भी लगातार लोगो को सोशल डिस्टेंसिंग के प्रति जागरूक किया जा रहा है और पुलिस प्रशासन द्वारा जिले में जगह-जगह लगाए गए नाकों पर तैनात पुलिस के सभी जवान अपनी ड्यूटी को बखूबी से निभा रहे है। प्रवासी मजदूरों को भी अब धीरे-धीरे उनके गंतव्य स्थान तक ट्रेनों और बसों के माध्यम से भेजा जा रहा है और प्रशासन द्वारा उनके खाने व पिने के स्वच्छ पानी की व्यस्था की जा रही है।

जिससे कि उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन को लोगो का भी पूरा सहयोग मिल रहा है और जिस तरह से उन्हें लोगो का सहयोग मिल रहा है। उससे लगता है कि जल्द ही इस कोरोना जैसी महामारी पर विजय प्राप्त कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि पलवल जिले का एक पुलिसकर्मी भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। जिसका कोविड अस्पताल में उपचार चल रहा है और उनके द्वारा भी पुलिस के सभी जवानो को ड्यूटी के दौरान सावधानियां बरतने के निर्देश दिए गए है।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।