अल्पसंख्यक समुदाय के लिए चलाई जा रही सरकार की तरफ से योजना का लाभ जरूर मिले
September 4th, 2019 | Post by :- | 37 Views

पलवल / लोकहित एक्सप्रेस

  प्रवीण आहूजा

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य सरदार मंजीत सिंह राय ने पलवल के लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक ली उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का लाभ ज्यादा से ज्यादा माल संख्याओं को मिलना चाहिए इसके लिए संबंधित विभागों के अधिकारी लोगों को पूरी जानकारी दें और योजनाओं का लाभ प्रदान करें राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य सरदार मंजीत सिंह ने बताया कि अल्पसंख्यकों में मुस्लिम ईसाई सिख बौद्ध जैन और फारसी शामिल है राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग द्वारा अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए 15 सूत्री कार्यक्रम चलाया है है जिसका उद्देश्य अल्पसंख्यकों के लिए शिक्षा के अवसरों को बढ़ावा देना आर्थिक कार्यकलापों रोजगार में समुचित उपलब्ध करवाना अल्पसंख्यक समुदाय के व्यक्ति के जीवन स्तर की दिशा में सुधार करना शामिल है उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन के अधिकारी के साथ बैठक कर उन्हें दिशा निर्देश दिए गए हैं केंद्र सरकार राज्य सरकार द्वारा समुदाय के लोगों को दी जाने वाली सुविधाएं तुरंत मुहैया कराई जाए ।

उन्होंने बताया कि ऐसे मामले में किसी प्रकार का भेदभाव ना हो ओर सरकार द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के लिए शैक्षणिक सशक्तिकरण आर्थिक सशक्तिकरण के अंतर्गत सामाजिक व आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं शैक्षिक सशक्तिकरण के अंतर्गत मैट्रिक पूर्व छात्रवृत्ति योजना पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना मेरिट से से साधन आधारित छात्रवृत्ति नया सवेरा नई उड़ान जैसी आने की योजना चलाई गई हैं उन्होंने कहा कि आर्थिक सशक्तिकरण के अंतर्गत अल्पसंख्यक कौशल विकास के लिए योजना एवं पारीक कलाओं का भी सहयोग देना चाहिए। उन्होंने बताया कि सरकार की तरफ से जो भी योजनाएं अल्पसंख्यकों के लिए चलाए जा रही है उन्हें विभाग के माध्यम से सभी नागरिकों तक पहुंचाई जाए ताकि वह सरकार के द्वारा चलाई गई योजनाओं का पूरी तरह से लाभ ले सके ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।