जौनपुर।जमाती के बारे मे कहा जा रहा था कि कोरोना जमाती ने फैलाया,क्या अब कोरोना खत्म हो गया ,ट्रको से भर कर महानगरों से घरों को वापसी कर रहे मजदूरों की कहीं भी चेकिंग नहीं,संक्रमण फैलने का बढ़ सकता है खतरा।
May 10th, 2020 | Post by :- | 37 Views

जौनपुर। कोरोना संक्रमण के चलते महानगरों में फंसे भूख प्यास से बिलबिला रहे प्रवासी मजदूर अब सरकार की सारी व्यवस्था को धता बताकर  दिल्ली,  मुंबई, भिवंडी ठाणे सूरत, गुजरात, अहमदाबाद, हैदराबाद कोलकता बंगलौर आदि अन्य  महानगरों से ट्रकों में भर कर बड़ी संख्या में अवैध रूप से पूर्वांचल के जनपदों जौनपुर सुल्तानपुर आजमगढ़ प्रतापगढ़ भदोही, मिर्जापुर,  इलाहाबाद गोरखपुर ,वाराणसी सहित  अन्य जिलों में अपने घरों को आने के लिए मजबूर हो गये हैं ट्रक में भर कर आते समय  सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और ना ही मास्क अथवा  सेनेटाईजर या कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सुरक्षा के किसी भी उपाय का प्रयोग नहीं कर रहे हैं जो बड़े खतरे का संकेत दे रहा है।

देखने को मिल रहा है कि ट्रकों में लगभग सौ  से  डेढ़ सौ की संख्या में मजबूर भूंसे की तरह भर कर अपने घर जा रहे हैं जिसे न तो कहीं जनपद की सीमा  पर रोका जा रहा है  नहीं कहीं भी पुलिस या सरकारी तंत्र इन्हें रोक कर उनकी थर्मल स्क्रीनिंग ही करा रहा है । जिन जनपदो में मजदूर जा रहे है वहां भी क्वारंटाइन नहीं किया जा रहा है क्योंकि सरकारी तंत्र को सूचना ही नहीं मिल रही है। ऐसी दशा मे कोरोना संक्रमण को बढ़ने का खतरा अधिक नजर आ रहा है।  सबसे अहम बात यह है कि सरकारी तंत्र  इस पर ध्यान क्यों नहीं दे रहा है। यह समझ के बाहर है। सरकारो से उपेक्षित जिस तरह प्रवासी मजदूरों का आगमन अवैध रूप से ट्रकों द्वारा हो रहा है और प्रशासन द्वारा उनकी न तो कोई जांच की जा रही है इससे स्पष्ट है कि संक्रमण से बचाव के लिए हर स्तर पर लापरवाही बरती जा रही है।  प्रवासी मजदूरों को  खुली छुट मिली हुई है वह भी खास कर पूर्वांचल में है। ऐसे में अब ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है  । मजदूरों की ऐसी यात्रा पर  शासन और प्रशासन को गम्भीरता से लेने की जरूरत है।

यहाँ बतादे कि कि ट्रक से हैदराबाद से चल कर गोरखपुर जा रहे मजदूरों से पंचहटिया पुलिस पिकेट के पास रूक कर पानी ले रहे मजदूरों से बात कर जानकारी चाही की कहीं चेकिंग हुईं या नहीं तो मजदूरों का जभाब था कोई पूंछने वाला नहीं हम लोग भूखे प्यासे किसी तरह घर गोरखपुर जा रहे है ट्रक वाला  हम लोगो से भाड़ा भी वसूला है।

इनसे कोरोना संक्रमण फैलने पर रोकना बेहद कठिन ही नहीं नामुमकिन हो जायेगा

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।