रेल से आने वालों की जांच के लिए जिला प्रशासन ऊना की तैयारियां शुरू
May 10th, 2020 | Post by :- | 44 Views

ऊना    –      कोरोना के चलते देश भर में लागू लॉकडाउन के बीच रेल के माध्यम से वापस लाए जाने वाले हिमाचलियों के लिए उचित व्यवस्थाएं करने को जिला प्रशासन ऊना ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। रेल से आने वाले यात्रियों के उतरने, उनकी मेडिकल स्क्रीनिंग, उनके ठहरने व खाने-पीने सहित अन्य व्यवस्थाओं की तैयारियों के मद्देनजर उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने रेलवे स्टेशन ऊना का निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ एडीसी अरिंदम चौधरी, एएसपी विनोद कुमार धीमान, डॉ. निखिल भी साथ रहे।

डीसी ने सबसे पहले ऊना रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया और यहां पर व्यवस्था बनाने के लिए अधिकारियों को उचित दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अगले हफ्ते से ट्रेन के माध्यम से फंसे हुए लोगों को लाने की प्रक्रिया शुरू हो सकती है। इस संबंध में उच्च अधिकारियों से तैयारी करने के निर्देश प्राप्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि ऊना जिला इस चुनौती से निपटने के तैयार है। रेल के माध्यम से जो जिला ऊना निवासी वापस आएंगे, उनके कोविड टेस्ट होंगे और रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें 14 दिन के लिए होम क्वांरटीन में भेजा जाएगा।

इसके बाद उपायुक्त तथा अतिरिक्त उपायुक्त ने आने वाले लोगों को ठहराने के लिए भी विभिन्न जगहों का निरीक्षण किया।

ईएसआईसी अस्पताल मैहतपुर में होगी जांच
उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने इसके बाद ईएसआईसी अस्पताल मैहतपुर का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि बाहरी प्रदेशों से आने वाले जिला ऊना के सभी निवासियों के अनिवार्य तौर पर कोविड-19 टेस्ट कराए जाएंगे और इसके लिए ईएसआईसी अस्पताल मैहतपुर में व्यवस्थाएं की गई हैं। उन्होंने कहा कि यहां प्रतिदिन 100 से अधिक सैंपल लेने की व्यवस्था बनाई गई है। सभी ऊना निवासियों को व्यवस्थित ढंग से वापस लाया जा रहा है, जिसके लिए प्रशासन ई-पास भी जारी कर रहा है। उन्होंने आने वाले लोगों से स्टाफ के साथ सहयोग करने की अपील की। डीसी ने यहां पर सैनिटाइजेशन तथा साफ-सफाई की उचित व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए।

बैरियर पर दिए दिशा-निर्देश
इसके बाद डीसी ने मैहतपुर तथा संतोषगढ़ बैरियर पर तैनात स्टाफ से बात की। उन्होंने मेडिकल जांच कर रही टीम से कहा कि रेड जोन से आने वाले व्यक्तियों का अनिवार्य तौर पर कोविड-19 टेस्ट किया जाएगा और अगर उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आती है, तो उन्हें होम क्वारंटीन में रखा जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।