कोरोना जागरूकता रथ पहुँचा केशकाल , लोगों से लॉक डाउन के नियमो का पालन करने के बताए नियम
May 10th, 2020 | Post by :- | 118 Views

केशकाल के गली मुहल्ले में घूम घूम कर लोगों को किया कोरोना से बचाव के प्रति जागरूक।

कोंडागांव 10 मई – वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किए गए देश्व्यापी लॉकडाउन के तीसरा चरण के दौरान भी देश मे कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ते देखकर जन-जन तक कोरोना के प्रति जागरूकता का प्रसार करना आवश्यक हो गया है, ताकि 17 मई तक किये गए लॉक डाउन में ही हम कोरोना संक्रमण को नियंत्रित कर सकें ताकि दोबारा लॉक डाउन का अवसर पैदा न हो। इसे ध्यान में रखकर कोण्डागांव पुलिस द्वारा निर्मित ‘कोरोना जागरूकता रथ‘ को विगत् 03 मई को पुलिस अधीक्षक बालाजी राव व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनन्त कुमार साहू को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। यह रथ जिले भर में घूमता हुआ पुतला, बैनर एवं ऑडियो मैसेज द्वारा कोरोना के बचाव एवं उपायों के विषय मे जागरूकता प्रसारित करते हुए नगर पंचायत केशकाल पहुंची।

 

इस मौके पर केशकाल थाने के सभी अधिकारी कर्मचारी कोरोना रथ के साथ घूमते हुए केशकाल के हर गली मोहल्ले एवं चौराहों पर करोना से बचाव के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इस दौरान जनता को कोरोना जागरूकता रथ में बैनर पोस्टर, पुतले के साथ ही ऑडियो मैसेज से सामाजिक दूरी का पालन करने, समय-समय पर हाँथ धोने, भीड़-भाड़ इलाकों से बचने और मास्क पहनने जैसे बचाव के उपायों के बारे में जानकारी दी गई। इस ‘जागरूकता रथ‘ में कोरोना से लड़ने वाले मैदानी रूप में कार्य करते पुलिसकर्मी, यातायात पुलिस, डॉक्टर, सफाईकर्मी को आम आदमी और वायरस के बीच दीवार बनकर कोरोना वॉरियर के रूप में कार्य करते झांकी में दिखाया गया

थाना प्रभारी देवेंद्र दर्रो ने बताया कि पुलिस अधीक्षक बाला जी राव के निर्देशानुसार इस रथ का उद्देश्य भीड़ इकट्ठा करना नहीं है, बल्कि गली गली में घूम कर घर के अंदर रह रहे लोगों को ऑडियो एवं झांकी के माध्यम से कोरोना के बचाव के प्रति जागरूक किया जा रहा है ताकि लोग घर पर रहे और सुरक्षित रहे।

इस मौके परथाना प्रभारी देवेंद्र दर्रो, एसआई जितेन्द्र कुमार नंदे, एसआई भवानी सिंह, एएसआई प्रभुलाल डहरिया, लोकेश नाग, मनमोहन जैन प्रधानारक्षक ओमप्रकाश नरेटी, हेमन्त देवांगन, नारद यदु सहित थाना के समस्त महिला व पुरुष पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।