गहरी मंडी के पूर्व सरपंच मनजिंदर सिंह भीरी ने फ़ूड सप्लाई विभाग के जंडियाला गुरु सेंटर के अधिकारियों पर लगाये हज़ारों क्विंटल गेहूं गबन करने के आरोप ।
May 9th, 2020 | Post by :- | 192 Views
गहरी मंडी के पूर्व सरपंच ने जंडियाला गुरु सेंटर के फ़ूड सप्लाई विभाग के अधिकारियों पर अवैध रूप से नीले कार्ड काटकर गरीबों को बांटी जाने वाली गेहूं में  हज़ारों क्विंटल गेहूं गबन करने के लगाए आरोप ।

जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
आज पत्रकार वार्ता में गहरी मंडी के पूर्व सरपँच मनजिंदर सिंह भीरी ने फ़ूड सप्लाई विभाग के सेंटर जंडियाला गुरु के अधिकारियों पर गरीबों को बांटे जाने वाली गेहूं में अवैध रूप।से नीले कार्ड काटकर हज़ारों क्विंटल गेहूं गबन करने के आरोप लगाए हैं ।उन्होंने ने कहा कि वर्ष 2016 में 4 करोड़ रुपये का का जंडियाला गुरु सेंटर में  इंस्पेक्टरों ने घपलेबाजी कर हज़ारों गरीब लोंगो को सस्ती मिलने वाली गेहूं से वंचित कर दिया ।उस समय भी उन्होने यह मामला मीडिया के साथ साथ फ़ूड सप्लाई विभाग के उच्च अधिकारियों के ध्यान में लाया गया। इस मामले में विभाग द्वारा जंडियाला गुरु सेंटर के इंसपेकरों को चार्जशीट जारी की गई थी ।इसी तरह वर्ष 2017 में रइया सेंटर का मामला भी उजागर किया गया था जो 10 करोड़ रुपये का था। इस मामले में फ़ूड सप्लाई विभाग के 14 इंस्पेक्टर सस्पेंड हुए थे ।
इसी तरह अब जंडियाला गुरु के सेंटर के इंचार्ज ए एफ एस ओ अर्शदीप सिंह ,इंस्पेक्टर जसदेव सिंह ,इंस्पेक्टर गुरमंगत सिंह समेत डी एफ एस सी लखविंदर सिंह शामिल हैं ।उन्होंने ने कहा कि जो सितंबर 2019 से लेकर 31 मार्च 2020 तक गेंहूं गरीबों को जंडियाला गुरु सेंटर द्वारा बांटी जानी थी उसमें इंसपेक्टरों ,ए एफ एस ओ समेत अन्य अधिकारियों की मिलीभगत से बड़े स्तर पर हजारों क्विंटल गेहूं का गबन किया गया है ।पूर्व सरपंच मनजिंदर सिंह भीरी ने कहा कि कोविड 19 म्हांमरी के चलते पूरे भारत मे लोकडौन कर्फ्यू लगा हुआ है ।ऐसी हालत में सबसे ज्यादा आर्थिक रूप से गरीब और मजदूर वर्ग प्रभावित हुआ है ।उन्होंने कहा कि ज़मीनी स्तर पर देखा जाए तो इन फ़ूड सप्लाई विभाग के इंसपेक्टरों ने अपने दफ्तर में बैठे बैठे ही ऐसे जरूरतमन्द लोगों के कार्ड काट दिये है कि अगर उनके घर के हालात देखें जाए तो आँखों मे आंसू छलक पड़ते हैं ।जबकि फ़ूड सप्लाई विभाग के अधिकारी इन गरीबों की हालत ना देखने की जगह गबन कर अपनी जेबों को भरने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है जो लोगों की आवाज़ को सरकार तक पहुंचाता है लेकिन जंडियाला गुरु सेंटर के ए एफ एस ओ अर्शदीप सिंह ,इंस्पेक्टर जसदेव सिंह और इंस्पेक्टर गुरमंगत सिंह की मीडिया कर्मियों के साथ बदसलूकी का मामला भी पुलिस थाना जंडियाला गुरु में चल रहा है। इस सेंटर की लिखित तौर पर शिकायत अलग अलग गांवो की पंचायतों जिसमें गहरी मंडी ,बुंडाला, छापा राम सिंह ,ठठिया ,तलवंडी डोगरा ,जंडियाला गुरु ,वडाली डोगरा व अन्य गांव ने मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिंदर सिंह और डी सी अमृतसर को भेजी है ।
उल्लेखनीय है कि अगर किसी गरीब को यह कार्ड बनाना हो तो इसके लिए कई शर्ते  रखी हुई है जबकि कार्ड काटने की पॉवर सिर्फ इंसपेक्टरों के पास है जो बिना जांच किये गरीब लोगो के कार्ड काटकर उनको सस्ती मिलने वाली गेहूं से वंचित कर देते हैं ।
पूर्व सरपंच भीरी ने इन अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि इन भ्रष्ट लोगों की जायदाद की जांच भी होनी चाहिए क्योंकि गरीबों के साथ धोखाधड़ी कर ऐश की जिंदगी जीते हैं ।
इस मामले को लेकर जब डिप्टी डायरेक्टर श्रीमती रजनीश कुमारी से बात की।गई तो उन्होंने ने कहा कि पहले भी हमें शिकायतें  मिली है अब भी इस मामले की गम्भीरता से जांच की जाएगी जो भी कसूरवार होगा विभाग उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करेगा ।
फ़ोटो कैप्शन पूर्व सरपंच मनजिंदर सिंह भीरी व लाभपत्री जिनके नाम बिना जांच किये कार्ड में से नाम काट दिये गए हैं

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।