राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण मण्डल का सर्वेक्षण: वायु की गुणवत्ता सन्तोषजनक
May 8th, 2020 | Post by :- | 71 Views

जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनी) । प्रदेश में कॉविड-19 महामारी के कारण हुए लॉकडाउन से परिवेशी वायु गुणवत्ता में स्थिति संतोषजनक है। मोडिफाइड लॉकडाउन की अवधि में अजमेर, अलवर, कोटा और पाली जिलों में वायु गुणवत्ता में सुधार दर्ज किया गया है। मण्डल के अध्यक्ष पवन कुमार गोयल ने बताया कि मण्डल द्वारा प्रीलॉकडाउन, लॉकडाउन तथा मॉडिफाइड लॉकडाउन की अवधि का परिवेशी वायु गुणवत्ता, प्रमुख प्रदूषणों तथा नाइट्रोजन डाई ऑक्साइड जैसे मापदंडों द्वारा तुलनात्मक अध्ययन किया गया है। कोविड-19 महामारी के खतरे से निपटने के लिए मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में 22 से 31 मार्च तक लॉकडाउन लगाया गया था जिसके कारण यात्रा पर लगाए गए कड़े प्रतिबंध और वायु प्रदूषण वाले क्षेत्रों सहित गैर-आवश्यक गतिविधियों को बंद करने के परिणाम स्वरूप राज्य के कई कस्बों और शहरों में वायु की गुणवत्ता में सुधार देखा गया है। राज्य प्रदूषण नियंत्रण मंडल अपने 10 सतत परिवेशी वायु गुणवत्ता निगरानी स्टेशनो जयपुर-3,अलवर-1, अजमेर-1,भिवाड़ी-1,जोधपुर-1,कोटा-1,पाली-1 और उदयपुर-1) के नेटवर्क के माध्यम से राज्य में वायु गुणवत्ता की निगरानी कर रहा है। राज्य की वायु गुणवत्ता पर लॉकडाउन के प्रभाव का अध्ययन करने के लिए इन स्टेशनों से उत्पन्न आंकड़ों के आधार पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) और प्रमुख प्रदूषकों जैसे PM10,PM2.5 और नाइट्रोजन डाइऑक्साइड जैसे मापदंडो का एक संक्षिप्त विश्लेषण देखा गया है। राज्य मंडल ने 15 एवं 24 अप्रेल को दो रिपोर्ट प्रकाशित की थी जिसमें राज्य की परिवेशी वायु गुणवत्ता पर लॉकडाउन के प्रभाव का विश्लेषण किया गया था। मंडल ने रिपोर्ट के तीसरे भाग में, राज्य की परिवेशी वायु गुणवत्ता और प्रमुख प्रदूषकों जैसे PM10, PM2.5 और नाइट्रोजन डाइ ऑक्साइड जैसे मापदंडो को तीनों अवधियों यानी प्री-लॉकडाउन अवधि, लॉकडाउन अवधि यानी 22 मार्चसे 19 अप्रेल तक और मॉडिफाइड लॉकडाउन अवधि (20 अप्रेल से 3 मई) से तुलना की गयी है। जयपुर शहर में प्री-लॉकडाउन और लॉकडाउन पीरियड में विभिन्न मॉनिटरिंग लोकेशन पर ध्वनि के स्तर के आंकड़ों का भी विश्लेषण एवं अध्ययन किया गया है । जिसके अनुसार स्पष्ट है कि लॉकडाउन अवधि की तुलना में वायु गुणवत्ता सूचकांक के संदर्भ में वायु गुणवत्ता जोधपुर को छोड़कर सभी शहरों में मॉडिफाइड लॉकडाउन अवधि के दौरान संतोषजनक बनी हुई है। जोधपुर में वायु गुणवत्ता सूचकांक में मध्यम श्रेणी तक गिरावट आई है। लॉकडाउन की अवधि की तुलना में भिवाड़ी, जयपुर (आदर्श नगर), जयपुर (पुलिस कमिश्नरेट),जयपुर (साइंस पार्क),जोधपुर और उदयपुर में मॉडिफाइड लॉकडाउन की अवधि के दौरान वायु गुणवत्ता खराब हुई है। हालांकि अजमेर, अलवर, कोटा और पाली में लॉकडाउन अवधि की तुलना में मॉडिफाइड लॉकडाउन अवधि में वायु गुणवत्ता में सुधार देखा गया है।
इसी तरह भिवाड़ी, जयपुर (पुलिस कमिश्नरेट), जयपुर (साइंस पार्क), जोधपुर और उदयपुर में भी मॉडिफाइड लॉकडाउन के दौरान PM10 और PM2-5 के स्तर में बढ़ोत्तरी पायी गयी है । भिवाड़ी, जयपुर (पुलिस कमिश्नरेट) और पाली को छोड़कर सभी स्टेशनों पर मॉडिफाइड लॉकडाउन के दौरान NO2 का स्तर बढ़ा हुआ पाया गया है।
लॉकडाउन अवधि के दौरान ध्वनि का स्तर रात के समय साइंस पार्क,शास्त्री नगर को छोड़कर लॉकडाउन पूर्व की अवधि की तुलना में सभी मॉनिटरिंग लोकेशनपर कम हुआ है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।