प्रभारी मंत्री डाक्टर बीडी कल्ला ने वीसी से ली समीक्षा बैठक । कोरोना संक्रमण से बचाव टीडी नियंत्रण और पानी बिजली प्रबंधन पर की विस्तार से चर्चा । दिए महत्वपूर्ण निर्देश कहां सरकार के निर्देशों का पालन सुनिश्चित करें
May 8th, 2020 | Post by :- | 48 Views

बीकानेर/जैसलमेर, ऊर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री तथा जैसलमेर एवं बाड़मेर जिलों के प्रभारी मंत्री डाॅ. बी. डी. कल्ला ने कोरोना महामारी से बचाव तथा इससे निपटने के लिए सभी संभव उपायों को अमल मंें लाते हुए चैतरफा प्रयासों को आशातीत रूप से सफल बनाने का आह्वान अधिकारियों से किया है और इस दिशा में अब तक की कार्यवाही पर संतोष जताते हुए प्रशासन, पुलिस और सभी लोगों का आभार जताया है।
ऊर्जा एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी.डी. कल्ला ने शुक्रवार को बीकानेर स्थित राजीव गांधी सेवा केंद्र के माध्यम से बाड़मेर और जैसलमेर जिला प्रशासन के साथ वीडियो कांफ्रेंस के दौरान यह बातें कही। वीसी के माध्यम से जैसलमेर के जिला प्रभारी सचिव डाॅ. के.के. पाठक एवं बाड़मेर की जिला प्रभारी सचिव डाॅ. वीणा प्रधान भी वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़े रहे।
प्रभारी मंत्री डाॅ. कल्ला ने वीसी में प्रमुख रूप से कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचावों के साथ ही पानी-बिजली, टिड्डी नियंत्राण और सम सामयिक हालातों की विस्तार से समीक्षा की और महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिए।
जैसलमेर के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभागीय वीसी कक्ष में जिला कलक्टर नमित मेहता के साथ ही जिला पुलिस अधीक्षक डाॅ. किरण कंग सिद्धू, कोविड-19 के जिला नोडल अधिकारी एवं उपनिवेशन विभागीय अतिरिक्त आयुक्त दुर्गेश बिस्सा, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओपी विश्नोई, मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, उप निवेशन उपायुक्त देवाराम सुथार, उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई, नगर विकास न्यास के सचिव अनुराग भार्गव सहित पानी-बिजली, चिकितसा एवं स्वास्थ्य सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
लाॅक डाउन का प्रभावी पालन सुनिश्चित हो
प्रभारी मंत्री डाॅ. बी.डी. कल्ला ने कोरोना संक्रमण के मद्देनज़र लाॅक डाउन की स्थितियों की समीक्षा करते हुए कहा कि लाॅक डाउन के दौरान सारी व्यवस्थाएं चाक-चैबंद रहनी चाहिएं। इनमें फिजिकल डस्टेंसिंग( सोशल डिस्टेंसिंग) की पूरी-पूरी पालना हो। कानून व्यवस्था की पालना में इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि बहुत आवश्यक सेवाओं में किसी को रोका ना जाए, विशेषकर अगर किसी व्यक्ति को दवा या राशन आदि लेने के लिए निकलना पड़े तो उसे मानवीय आधार पर छूट प्रदान की जाए। इसी तरह अगर किसी के घर-परिवार में किसी की मृत्यु होती है और उसे बाहर जाना पड़े तो ऐसे प्रकरणों में भी व्यक्तिगत रूप से जिला कलक्टर इस विषय में छूट प्रदान करने का कार्य भी करें।
लोक जागरुकता बनाए रखें
मंत्री ने जिला कलक्टर से कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को समय-समय पर जागरूक करने के कार्य में कहीं कोई कमी नहीं आनी चाहिए। आम जन को पाबंद किया जाना जरूरी है कोविड-19 के तहत जो दिशा-निर्देश दिए गए हैं उनकी अक्षरशः पालना सुनिश्चित करें, माॅस्क लगाकर चलें, अनावश्यक रूप से कहीं पर भी एकत्रित ना हो और जहां तक संभव हो सके सामाजिक कार्य अगले कुछ दिनों के लिए स्थगित रखें।
रिक्त पद भरने के लिए सरकार प्रयासरत
ऊर्जा एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री ने कहा कि राजस्थान लोक सेवा आयोग से जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा लगातार संपर्क बनाए हुए हैं और जल्द ही आर.पी.एस.सी. के अधिकारियों के साथ मीटिंग कर डीपीसी का कार्य पूर्ण कर दिया जाएगा। यह कार्य पूर्ण होने के साथ ही अधिकारियों की नियुक्ति के समय और जैसलमेर में अधिकारियों के पद स्थापन किए जाएंगे।
ऊर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी. डी. कल्ला ने कहा कि बाड़मेर और जैसलमेर में जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग में जो रिक्त पद है, उन्हें शीघ्र भरने के लिए डीपीसी की जाएगी तथा आने वाले दिनों में पदोन्नति से वे पद भरे जाने के बाद नियुक्ति देने में पहली प्राथमिकता जैसलमेर और बाड़मेर रहेगी।
डाॅ. कल्ला ने जैसलमेर जिला कलक्टर नमित मेहता से कहा कि वर्तमान में जैसलमेर जिले में जो रिक्त पद हैं उनकी सूची बनाकर सूची में सभी विभागों के रिक्त पदों की जानकारी अंकित की जाए ताकि लाॅक डाउन के बाद पद भरने की प्रक्रिया सरकार द्वारा जब प्रारंभ की जाए तो जैसलमेर जिले में सभी पद भरे जाने के लिए राज्य सरकार स्तर पर प्रयास किए जाएं।
जैसलमेर में फिलहाल स्थितियां नियंत्राण में
जैसलमेर जिला कलक्टर नमित मेहता ने जैसलमेर जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के उपायों के साथ ही इससे संबंधित सभी गतिविधियों पर विस्तार से जानकारी दी और बताया कि जिले में कुल 35 पोजिटीव केस आए थे। इनमें से 4 को छोड़कर सभी नेगेटिव आ गए हैं जबकि मात्रा 4 जनों का ही ईलाज चल रहा है और उनके भी शीघ्र ही कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर लौटने की उम्मीद है।
जिला कलक्टर ने प्रभारी मंत्री को बताया कि वर्तमान में जैसलमेर में 13 पर्यटक रुके हुए हैं इनके स्वास्थ्य का परीक्षण समय-समय पर किया जा रहा है तथा सभ्ीा जरूरी आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हंै। साथ ही अगर अगले कुछ दिनों में सरकार के निर्देश पर यहां हवाई यात्रा से अगर पर्यटक या अन्य प्रवासी आते हैं तो उनके लिए होटलों का चिह््िनकरण कर लिया गया है एवं उनकी जरूरत के मुताबिक सुविधा उपलब्ध करवा दी जाएगी।
पानी और बिजली की सुचारू एवं निर्बाध आपूर्ति के प्रति गंभीर रहें
ऊर्जा मंत्री ने दोनों जिलों में बरसात और ओलावृष्टि की भी जानकारी ली साथ ही उन्होंने कहा कि विद्युत और पानी की आपूर्ति व्यवस्थित एवं सुचारू रूप से चलती रहे अगर बहुत ज्यादा जरूरत हो तो पानी के लिए पहले से ही प्लान बना कर रखें, ताकि जैसे ही कहीं दिक्कत हो तो तत्काल पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार विद्युत आपूर्ति ग्रामीण क्षेत्र में काश्तकारों को और शहरी क्षेत्र में आम उपभोक्ताओं को बराबर होती रहे।
महानरेगा में अधिकाधिक को दें रोजगार
डाॅ. कल्ला ने जिला कलक्टर से कहा कि मनरेगा के माध्यम से अधिकाधिक लोगों को रोजगार से जोड़ा जाए। निजी कार्य स्वीकृत किए जाएं। ग्रेवल रोड बनाने के कार्य भी स्वीकृत करें तथा अगले 1 सप्ताह में 40 हजार लोगों को मनरेगा के माध्यम से रोजगार से जोड़ा जाए। साथ ही वर्तमान में जहां मनरेगा के कार्य चल रहे हैं वहां छाया पानी आदि की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए।
टिड्डी नियंत्रण के लिए ठोस प्रयास करें
ऊर्जा मंत्री ने जैसलमेर जिला कलक्टर नमित मेहता से जिले में टिड्डी प्रकोप व संभावित स्थितियों के बारे में जानकारी ली और कहा कि टिड्डी नियंत्रण के लिए स्थानीय प्रशासन, भारत सरकार के विभाग तथा बीएसएफ के अधिकारियों के साथ बातचीत कर ऐसी कार्य योजना बनाई जाए जिससे टिड्डी नियंत्रण प्रभावी तरीके से हो सके।
इस पर जिला किलक्टर नमित मेहता ने बताया कि वर्तमान में टिड्डियों को कंट्रोल कर लिया गया है और बीएसएफ के अधिकारियों के साथ 2 दिन पूर्व बैठक कर ली गई थी। जिला कलक्टर ने बताया कि 1000 हेक्टेयर में टिड््ियां आई थीं जिसे कंट्रोल कर दिया गया है।
प्रभारी सचिव के.के. पाठक ने जैसलमेर जिले की वर्तमान स्थितियों के बारे में जानकारी ली और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
एसपी ने कानून व्यवस्था की दी जानकारी
जैसलमेर की जिला पुलिस अधीक्षक डाॅ. किरण कंग सिद्धू ने जिले में लाॅकडाउन की स्थिति में कानून व्यवस्था के बारे में भी बताया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।