भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी सेंट जॉन एंबुलेंस इंडिया द्वारा किया गया रक्तदान ।
May 7th, 2020 | Post by :- | 81 Views

करनाल, हरियाणा (रजत शर्मा)। भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी सेंट जॉन एंबुलेंस इंडिया जिला शाखा करनाल द्वारा गुरूवार को 18 व्यक्तियों ने सिविल अस्पताल करनाल एवं कल्पना चावला राजकीय मेडिकल कॉलेज करनाल में रक्तदान किया। जिला प्रशिक्षण अधिकारी करनाल एम सी धीमान ने सभी रक्त दाताओं को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। दयाल सिंह कॉलेज करनाल के रेडक्रॉस यूनिट के स्वयं सेवकों ने 100 व्यक्तियों को मास्क व सैनिटाइजर बांटे व सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में लोगों को जागरूक किया।बैंकों के बाहर एटीएम के पास जो लोगों की भीड़ लग जाती है, उनसे अपील करते हुए कहा कि समाजिक दूरी बनाकर रखें ताकि कोरोना से बचा जा सके। प्राथमिक सहायता की प्रवक्ता नीना ने लोगों से अपील की कि आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करें ताकि कोरोना का अलार्म आपको मिल सके और समय पर अपना बचाव कर सकें।

डॉ. सुनील कुमार सचिव, जिला रेडक्रॉस सोसायटी करनाल ने बताया की 8 मई को विश्व रेडक्रॉस दिवस के रूप में मनाया जाएगा क्योंकि रेडक्रॉस के संस्थापक सर जीन हेनरी ड्यूनॉट का जन्म भी 8 मई 1828 को जेनेवा में हुआ था और खुशी की इस बीच भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी के 100 साल पूरे हो चुके हैं। भारतीय रेडक्रॉस की स्थापना 1920 के एक्ट के तहत हुई थी। सचिव ने बताया कि जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा स्वयं सेवकों का फूल बरसा कर सम्मान किया जाएगा क्योंकि यह सभी कोरोना वायरस के कारण निरंतर लोगों की सेवा में लगे हुए हैं। सर जीन हेनरी ड्यनाट का जन्मदिन मनाया जाएगा। सभी वालंटियर सेवा की शपथ भी लेंगे।

उन्होंने बताया कि 8 मई को स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। लोगों से अपील है कि वह ज्यादा से ज्यादा रक्तदान करके थैलेसीमिया पीडि़त बच्चों, गर्भवती महिलाओं तथा दुर्घटना में घायल लोगों की रक्त देकर जिंदगी को बचाने का कार्य करें। जिला सचिव डॉ. सुनील कुमार ने सभी संस्थाओं से अपील की है की ब्लड बैंक में रक्त की कमी ना होने दें। बहुत सी संस्थाएं हमें पहले भी योगदान दे रही हैं, आगे भी हमें सभी समाजसेवी संस्थाओं व रक्तदाताओं का योगदान मानवता की सेवा के लिए मिलता रहेगा। इसके लिए हम सभी संस्थाओं व रक्त दाताओं का आभार प्रकट करते हैं, क्योंकि लॉक डाउन की स्थिति में भी आप सब ने रक्तदान करके समय को संभाल लिया है।

उन्होंने सभी नौजवानों से अनुरोध किया है कि 8 मई को सिविल अस्पताल करनाल में आयोजित होने वाले रक्तदान शिविर में आकर अपना योगदान दें, ताकि थैलेसीमिया से पीडि़त बच्चे, गंभीर बीमारियों से पीडि़त व्यक्तियों तथा गर्भवती महिलाओं के लिए रक्त की कमी ना होने पाए। कैंप का समय प्रात: 9 से दोपहर 1 बजे तक रहेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।