राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान पलवल में बनाए जा रहे हैं सूती कपडे के मास्क|
May 7th, 2020 | Post by :- | 131 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- कोविड-19 वैश्विक महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए विभाग के आदेशानुसार राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान पलवल में सुरक्षा मानकों की अनुपालना करते हुए सूती कपडे के मास्क तैयार किए जा रहे हैं। पलवल व कुशल आईटीआई द्वारा एक-एक हजार फेस मास्क तैयार किए गए हैं।

विभाग ने हरियाणा में स्थित उन सभी आईटीआई के प्रधानाचार्यों को निर्देश दिए हैं जिन संस्थानों में कटिंग टेलरिंग, एंबॉयड्री, सेविंग्स टेक्नोलॉजी इत्यादि व्यवसाय चल रहे है। उन्हें बनाने व साईज से संबंधित गाइडलाइन भी जारी की गई, जिसमें मास्क के सेंपल अपने जिले के सिविल सर्जन से पास करवाने के बाद ही इन्हें तैयार करने के लिए निर्देशित किया गया। सिविल सर्जन से सेंपल पास करवाने के पश्चात संस्थान में अनुदेशिका के माध्यम से मास्क तैयार करवाए जा रहे हैं। आईटीआई पलवल में कटिंग टेलरिंग की मुनेश एकमात्र अनुदेशिका है, जिसने विभाग द्वारा दिए गए 1000 मास्क बनाने के लक्ष्य को पूरा कर लिया है। उन्होंने बताया कि जिले में स्थित राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) कुशक में भी कटिंग एंड टेलरिंग की ट्रेड चल रही है, जिसके अंतर्गत वहां भी विभाग अनुशरण 1000 मास्क तैयार हो चुके हैं और उन्हें सरकारी विभागों में देने के लिए संपर्क किया जा रहा है।

आईटीआई पलवल के प्रधानाचार्य भगत सिंह ने बताया कि विभागीय निर्देशानुसार संस्थान में अनुदेशिका के माध्यम से मास्क बनाने के लक्ष्य को पूर्ण कर लिया गया है। विभागीय दिशा-निर्देशानुसार प्रत्येक कर्मचारी को मास्क दिए जाने हैं, जिसके लिए 10 रुपए प्रति मास्क निर्धारित किए गए हैं। लॉकडाउन खुलने के बाद छात्रों को भी नियमानुसार मास्क दिए जाएंगे। सरकार की हिदायतानुसार स्थानीय प्रशासन को सरकारी मूल्य 10 रुपए प्रति मास्क के हिसाब से सप्लाई किए जाएंगे।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।