जिला स्थित शराब की सभी फैक्ट्ररियों के गोदामों की नियमित रूप से की जाएगी चैंकिग
May 7th, 2020 | Post by :- | 40 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा वीसी में मिले निर्देशों की अनुपालना को कार्यरूप में परिणत करने के लिए जिला उपायुक्त अशोक कुमार के मार्गदर्शन में आबकारी एवं काराधान विभाग के अधिकारियों ने काम करना शुरू कर दिया हैं। सरकार द्वारा निर्देशों की अनुपालना के लिए सम्बधिंत फैक्ट्ररियों के अधिकारियों और पदाधिकारियों को अवगत करवाया गया हैं कि वे अपनी-अपनी फैक्ट्ररियों में सरकार द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार काम करेगें। फैक्ट्ररियों में कर्मचारियों के लिए सैनिटाईजर, मास्क इत्यादि उपलब्ध करवाना अति आवश्यक हैं। इसके साथ-साथ सामाजिक दूरी की पालना भी निर्धारित मापदण्ड के तहत की जाए ताकि कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकें। उन्होंने यह भी कहा कि प्रशासन द्वारा गठित टीमें निर्धारित स्थानों पर निर्देशों की अनुपालना के तहत काम करेगी। 
  डीईटीसी गे्रवाल ने आगे बताया कि जिला में स्थित डिस्टलरीज में स्टॉफ की तैनाती कर दी गई है। सम्बधिंत डिस्टलरीज से निकलने वाले माल पर प्रशासन पूरी नजर रहेगी। किसी भी प्रकार की चोरी या स्मगलिंग न हो, इसके लिए सम्बधिंत अधिकारियों को स्पष्टï निर्देश दिए गए हैं कि वे व्यवस्था पर पैनी नजर बनाए रखें। पुलिस विभाग के साथ मिलकर आपसी समन्व्य के साथ कार्य करें। एल वन और एल-13 के गोदामों को नियमित रूप से चैक करने की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी हैं। 
उन्होंने यह भी बताया कि जिला स्थित चारों डिस्टलरियों, बीयर फैक्ट्री के साथ-साथ दोनो बोटलिंग प्लांटों पर नजर रखने के लिए संयुक्त रूप से काम किया जा रहा हैं। इसके लिए सम्बधिंत अधिकारियों से निरन्तरता में बातचीत होती रहती हैं। व्यवस्था पर नजर रखने के लिए समय-समय पर डीसी अशोक कुमार, एसपी अभिषेक जोरवाल का मार्गदर्शन भी लिया जा रहा हैं। उन्होंने जानकारी के क्रम में आगे बताया कि जिला में एल वन के चार और एल-13 के पांच गोदाम है। सभी गोदामों में चैंकिंग के दृष्टिïगत सभी टीमें निर्धारित निर्देशों के अनुसार काम कर रही हैं। उन्होंने बताया कि अधिकारियों को स्पष्टï निर्देश दिए गए है कि वे कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा निर्धारित निर्देशों की अनुपालना अवश्य करें। जिला के बधौली में दो और जटवाड़ में भी दो फैक्ट्रियां हैं जबकि बाकी बीयर की एक फैक्ट्री और बॉटलिंग के प्लांट साहा के अंदर है। 
बॉक्स:- डीईटीसी ग्रेवाल ने एक महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया कि सरकार द्वारा शराब की फैक्ट्ररियों पर प्रत्यक्ष रूप से नजर रखने की व्यवस्था की जा रही हैं। जिसके तहत सभी फैक्ट्ररियों में फलो चार्ट मीटर लगाएं जाएगें। जिसके दृष्टिïगत मुख्यालय और फिल्ड में बैठे अधिकारी फैक्ट्ररियों में बनने वाले ईएनए  (एल्कोहल) पर सीधे नजर रख पाएंगें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।