ट्राईसिटी प्रैस क्लब ने ट्राइसिटी में मिडिया परिवार सुरक्षित परिवार मुहिम के तहत पहले पीपीई किट अब राशन किट भी वितरित कर की शुरुआत
May 6th, 2020 | Post by :- | 80 Views

-19 में क्लब मिडिया कर्मियों की मदद में ट्राईसिटी प्रैस क्लब बना सहायक

पंचकूला, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )    ।   महामारी कोविड-19 में ट्राईसिटी प्रैस क्लब ने कोरोना वॉरियर्स के तौर पर क्लब मीडिया सदस्यों के सहयोग के लिए एक अहम कदम उठाते हुए पहल की।

इस अवसर पर ट्राईसिटी प्रैस क्लब के प्रधान डॉ स्वस्तिक शर्मा औऱ महासचिव हरीश शर्मा ने बताया कि क्लब ट्राइसिटी मीडिया परिवार-सुरक्षित परिवार मुहिम के तहत पहले मीडिया कोरोना योद्धाओं को लगभग 50 पीपीई किट वितरित की। और अब राशन किट्स देकर क्लब के स्थापना दिवस 6 म‌ई से एक साप्ताह तक ट्राइसिटी मीडिया परिवार-सुरक्षित परिवार मुहिम के तहत क्लब के फाउंडर अध्यक्ष धार्मिक लेखक आरके शर्मा समाजसेवी के साथ चेयरमैन विक्रांत बाबा, अध्यक्ष डॉ स्वास्तिक व महासचिव हरीश के अलावा राशन किट कमेटी ने राशन वितरित करके श्रीगणेश किया। उन्होंने बताया कि लेखक आरके शर्मा कई धार्मिक स्थानों व संस्थाओं के अलावा असहाय लोगों की मदद के लिए भी हर समय मददगार में अग्रणी रहते हैं।  उन्होंने कई मेडिकल कैंपस में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया, वे एक वट वृक्ष की तरह हैं, जिससे हर स्थिति में दूसरों की भलाई व धर्मार्थ कार्यों में भी तत्पर रहते हैं।

ट्राइसिटी प्रेस क्लब की राशन किट कमेटी में संगठन सचिव हरकेश ऐरी , सलाहकार संजीव हरि शर्मा, प्रेस सचिव राकेश अष्ट, मनोज शर्मा ने बताया कि 6मई से राशनकिट मुहिम एक सप्ताह तक ट्राइसिटी में जारी रहेगी । चेयरमैन ने बताया कि पंचकूला में पहले क्लब ने अपने जरूरत मंद सदस्यों को राशनकिट वितरित करनी शुरू कर दी उसके बाद दो दिन चंडीगढ़ में फिर दो दिन जिला मोहाली में उसके बाद अन्य मीडिया कर्मियों को भी वितरित करने बारे क्लब विचार करेगा।

इच्छुक सदस्य संपर्क साध सकते हैं। ट्राइसिटी प्रेस क्लब की ट्राइसिटी मीडिया परिवार सुरक्षित परिवार मुहिम में (राशन किट में दस किलो आटा, पांच किलो बासमती चावल, दो किलो चीनी, एक बोतल सरसों तेल, चायपत्ती, एक किलो काले चने/एक किलो दाल, टाटा नमक, हल्दी पैकेट ,गरम मसाला, लाल मिर्च,साबुन/टुथ पेस्ट आदि वितरित किया गया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।