देवालय बंद ,मदिरालय खुले यह कहां का कानून है ?
May 6th, 2020 | Post by :- | 79 Views

चंडीगढ़ ( मनोज शर्मा) हिंदू पर्व महासभा चंडीगढ़  74 मंदिरों  की संस्था है सभी मंदिरों में भारी रोष है कि देवालय बंद कर मदिरालय सरकार ने खोल दिए हैं यह कहां का कानून है कि भगवान के दरबार बंद करवा कर आपने मदिरा की दुकानें खुलवा दी हैं ।

सभा के प्रधान बीपी अरोड़ा ने सरकार से यह मांग की है कि हमारे मंदिर जो भगवान के स्थान है जहां पूजा होती है और जिनकी कृपा से सभी दुखों का निवारण होता है वह क्यों बंद कर दिए हैं और मदिरालय खोल दिए हैं । हम सरकार से दरखास्त करते हैं कि सभी मंदिर खोले जाएं । करोना को देखते हुए इसमें आवश्यक बातों का ख़याल रखते हुए लोगों को इकट्ठा नहीं होने देंगे, जो भी सरकार शर्तें लगाए हमें वह मंजूर है, लेकिन देवालयों को खोला जाए । सभा के प्रधान बीपी अरोड़ा , अनुज कुमार सहगल कमांडर , कानूनी सलाहकार पंकज गुप्ता , कमलेश चंद्र सूरी महामंत्री जी,अजय कौशिक प्रेस सचिव,  इन सब का अनुरोध है कि मन्दिरों के प्रवेश द्वार खुलवा दिए जाएं तांकि लोग अपनी भावनाओं को मंदिर में भगवान के सामने रखकर इस स्थिति को ठीक करने के लिए नतमस्तक हो सकें ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।