गेंहू की फसल की कटाई के बाद बचे हुए अवशेषों को जलाने पर लगा प्रतिबंद।
May 5th, 2020 | Post by :- | 24 Views

करनाल, हरियाणा (रजत शर्मा)। जिलाधीश निशांत कुमार यादव ने भारतीय दंड प्रक्रिया नियमावली 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत तुरंत प्रभाव से जिला करनाल में गेंहू की फसल की कटाई के बाद बचे हुए अवशेषों को जलाने पर प्रतिबंद लगा दिया है। यह आदेश आगामी दो महीने तक लागू रहेंगे।

उन्होंने बताया कि जिले की सीमा के अन्दर गेंहू की फसल की कटाई कम्बाईन मशीन करवाने के पश्चात इसके अवशेषों को जला दिया जाता है। इन अवशेषों को जलाने से होने वाले प्रदूषण से मनुष्य के स्वास्थ्य,सम्पत्ति की हानि,तनाव,क्रोध तथा मानव जीवन को भारी खतरे की सम्भावना रहती है जबकि इन अवशेषों से पशुओं के लिए तुड़ा बनाया जा सकता है।

इन अवशेषों को जलाने से चारे की भी कमी हो सकती है। इसलिए तुरंत प्रभाव से जिला करनाल में गेंहू की फसल की कटाई के बाद बचे हुए अवशेषों को जलाने पर प्रतिबंद लगा दिया गया है। उन्होंने बताया कि जो भी इन आदेशों की अवहेलना करेगा।

भारतीय दंड संहिता की धारा 188 आईपीसी एवं सपठित वायु एवं प्रदूषण नियंत्रण अधिनियम 1981 के तहत दंड का भागी होगा। इन आदेशों की पालना सुनिश्चित करने के लिए उप-निदेशक, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग करनाल, क्षेत्रिए अधिकारी हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड करनाल, जिला के सभी तहसीलदार/ नायब तहसीलदार तथा जिला के सभी खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी उत्तरदायी होंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।