डीएलएसए पलवल ने गांवों व कालोनियों में फेस मास्क व सेनेटाइजर बांटे।
May 5th, 2020 | Post by :- | 27 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :-  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ,पलवल के तत्वाधान में जिला एवं शत्र न्यायाधीश एवं चेयरमैन चंद्रशेखर व मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव,

पीयूष शर्मा  के निर्देशन में नि:शुल्क फेस मास्क व सेनेटाइजर वितरण कार्यक्रम का आयोजन गांव बढ़ा में पैनल अधिवक्ता हंसराज शाण्डिल्य द्वारा किया गया इस विशेष कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को कोरोना से बचाव के तरीकों व दिशा निर्देशों के बारे में जानकारी दी। और प्रोत्साहित किया कि लॉक डाउन के दौरान लोगों को नियम व कानूनों का पालन करना अतिआवश्यक है।

उचित दूरी बनाए रखने व हाथों को साबुन से धोने या फिर सेनिटाइज्ड करने, और घर से बाहर निकलते समय चहरे पर मास्क लगाने, कोरोना से संक्रमित या बीमारी की स्थिति में संपर्क करने वाले लोगों की सूची बनाएं और साथ के लोगों के साथ साझा करें।  बीमार लोगों से मिलने से परहेज करें। बाहर निकलने या अन्य जगहों पर जाने से बचें, सर्दी-खांसी और जुकाम होने पर टिश्यू का इस्तेमाल करें, परिजनों के साथ भी कम बैठने की कोशिश करें। आपके घर पर जिन चीजों का इस्तेमाल हो रहा है, उनकी रोज सफाई करें. कुर्सी, मेज, स्विच, दरवाजे और हैंडल को घर के सभी लोग इस्तेमाल करते हैं, इन्हें रोज साफ करें।

यदि कोई व्यक्ति बिना वजह से घर से बाहर निकलेगा या कानूनों का उल्लंघन किया तो उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही  की जाएगी। पैनल अधिवक्ता हंसराज शांडिल्य ने हरियाणा सरकार द्वारा निम्न आय वर्ग के लोगों को वित्तीय पैकेज की घोषणाएं की हैं उनके बारे में विस्तार से जानकारी दी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पलवल के पैनल अधिवक्ताओं ने लोगों को कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए गाँव धौलागढ़ में अधिवक्ता कमलेश व मोहननगर, पलवल में अधिवक्ता अनुराधा व अन्य पैनल अधिवक्ताओं द्वारा लोगों को क़ानूनी जागरूकता व निःशुल्क फेसमास्क व सेनेटाइजर वितरण कार्यक्रमों का आयोजन जिला स्तर पर किया जा रहा है।

इस संकट की घडी में लोगों को अपने ही घरों में रहने,व इस वैश्विक महामारी से बचाने के लिये प्रशासन व पुलिस का सहयोग करने की सलाह पैनल अधिवक्ताओं द्वारा दी जा रही है। किसी प्रकार की कानूनी मदद या सहायता की जरूरत है, तो जिला विधिक सेवा प्राधिकरण हेल्पलाइन नंबर 01275-298003 पर कानूनी सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।