लॉकडाउन में मिली ढील के पहले दिन ही बाज़ार में लोगों की भरमार, जमकर उड़ाई गई सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां
May 5th, 2020 | Post by :- | 241 Views

कालका (रोहित शर्मा) । विश्वव्यापी कोरोना संकट के दौरान लॉकडाउन-03 के बीच लोगों को राहत पहुँचाने के लिए सरकार द्वारा सोमवार से लॉकडाउन में ढील दी गई है। लेकिन ढील के पहले दिन ही कालका बाज़ार की सडकों पर जिस तरह से लोग सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाते दिखाई दिए उसने प्रशासनिक अधिकारीयों की चिंता को बढ़ा दिया है। सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर दुकानदारों द्वारा दुकानों के बाहर गोले भी बनाये गए है मगर लोग उन्हें नजरअंदाज कर रहे है। यदि लोगों का सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर यही रवैया रहा तो कोई एक भी संक्रमित व्यक्ति से हजारों लोगों में कोरोना फैल सकता है।

बता दें कि जिला मैजिस्ट्रेट मुकेश कुमार आहूजा ने आदेश जारी कर जिला में कंटेनमेंट एरिया को छोड़कर ओड और इवन के तहत दुकाने खोलने की अनुमति प्रदान की है। बावजूद इसके कालका बाज़ार में कई एसी दुकाने भी खुली देखी गई जिन्हें सोमवार के दिन खोले जाने की अनुमति ही नहीं थी। इस दौरान बिना अनुमति के खोली गई दुकानों को बंद करवाने के लिए पुलिस भी मशक्कत करते हुए नजर आयी।

सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उडती देख शहरवासी घबराए

शहर की सडकों पर लोगों की भीड़ देख कुछ लोगों का कहना है, कि लॉकडाउन में मिली ढील से लोग सोशल डिस्टेंसिंग की जिस प्रकार धज्जियां उड़ा रहे है। इससे कहीं शहर में कोरोना दस्तक ना देदे। प्रशासन को इस ओर ध्यान देना अतिआवश्यक है।

जिन दुकानों को आज खोलने की परमिशन नहीं थी, उन्हें पुलिस द्वारा बंद करवा दिया गया था। बिना परमिशन के किसी को भी दूकान खोलने नही दी जाएगी।—-एसीपी कालका रमेश गुलिया 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।