हरियाणा में अब महंगी होगी शराब
May 3rd, 2020 | Post by :- | 122 Views
सिवानी मंडी, ( सतीश खतरी )      ।     चंडीगढ़ हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने शराब पर कोविड-19 सेस लगाने का एलान किया। इस दौरान कहा उन्होंने कहा कि प्रदेश में ठेके कैसे खुलेंगे इस बात के सुझाव लोगों से मांगेगा। चौटाला ने बताया कि शराब की बोतल पर 2 रुपए से 20 रुपए तक सैस लगाया जाएगा। प्रेस कांफ्रैस के दौरान रविवार को उन्होंने कहा कि डिफेंस सर्विसेज ने कोरोना योद्धाओं को जो सम्मान दिया वे अतुलनीय कदम। उन्होंने सभी डिपू होल्डर्स का आभार जताया जिन्होंने समय पर सामान आंबटित किया। दुष्यंत ने कहा कि कुछ लोग गेहूं की खरीद को लेकर आरोप लगवा रहे है। उन्होंने कहा कि 1 जून से 30 जून तक सूरजमुखी की खरीद के सेंटर भी बनाएंगे। विपक्ष पर निशाना साधते  दुष्यंत चौटाला ने कहा कि विपक्ष का काम केवल आरोप लगाना ही है।
        उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने इस दौरान कहा कि  हरियाणा सरकार लगाएगी शराब पर कोविड सेस और प्रदेश में ठेके कैसे खुलेंगे इस बात के सुझाव लोगों से मांगे जाएंगे। शराब की बोतल पर 2 रुपए से 20 रुपए तक सैस लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम शराब की दुकानें खोलने का फैसला पड़ोसी राज्यों की स्थिति को देखकर लेंगे। चौटाला ने कहा कि हमने तय किया है केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस को सख्ती के साथ लागू करेंगे। उन्होंने बताया कि शराब का पुराना स्टॉक चैक किया था,53 ऐसी जगह हैं जहां पर स्टॉक रखा जाता है। इन मे से कई में अनियमतायें मिली हैं, जिन में कमी मिली है उन पर सख्त करवाई के साथ पैनल्टी लगाई जाएगी ।

        दुष्यंत ने रणदीप सुरजेवाला के बयान पर जवाब देते कहा कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार है वहां पैट्रोल व डीजल की कीमतों में 3 बार बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने ओम प्रकाश चौटाला के बयान के जवाब में कहा कि हमने अपनी जनता के प्रति जिम्मेवारी निभाई है चाहें वे हरियाणा में हो या हरियाणा से बाहर। हमने दूर दराज के प्रदेशों से अपने फंसे हुए नागरिक को प्रदेश में लाने का काम किया है । 9618 कॉल आई हैं जो दूसरे राज्यों में रुके हुए हैं। काँटेन्मेंट जोन से अपने नागरिक वापस नहीं लाए जा रहे क्योंकि पंजाब ने ये गलती की और एक दम से मरीज बढ़ गए हैं ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।