भुसावर कस्बे के गाँव बड़ा नगला इटामडा निवासी जगमोहन के परिवार को भी गुजरना पड़ा है ऐसी ही कानूनी औपचारिकताओं से
May 3rd, 2020 | Post by :- | 85 Views

संवाददाता शौकत अली

कोरोनामहामारी के इस संकट भरे समय मे लोग मजबूरी में विवाह जैसे जीवन के अहम बंधन में बंध तो रहे है लेकिन इन विवाह समारोहों में खुशी की जगह नजर आ रहा है कोरोनां के भय के बीच विवाह की मात्र रस्म अदायगी । जीवन के सबसे अनमोल इन क्षणों को जिन्हे याद किया जाता है उल्लास और उमंग के लिए उन्ही पलो में दुल्हा और दुल्हन को पूरी करनी पड़ रही है ऐसी कानूनी औपचारिकतायें जिनकी किसी ने जीवन मे नही की थी कल्पना। राजस्थान के भरतपुर में भुसावर कस्बे के गाँव बड़ा नगला इटामडा निवासी जगमोहन के परिवार को भी गुजरना पड़ा है ऐसी ही कानूनी औपचारिकताओं से।
अलवर जिले के माचाडी गाँव में अपनी शादी कर गाँव लौटे तो आते ही दुल्हन व बारात में शामिल सीमित लोगो की छोंकरवाड़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंच करानी पड़ी कोरोनां जाँच। थर्मल स्क्रीनिंग और हाथ पर मोहर लगबाने के बाद दूल्हा और दुल्हन सहित शादी में शामिल सभी को कर दिया गया होम आइसोलेट।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।