कांकेर कलेक्टर से की भीड़ कम करने की मांग
May 2nd, 2020 | Post by :- | 68 Views

कांकेर-:  जिला मुख्यालय के सब्जी बाजार में हर रविवार सप्ताहिक बाजार के दिन मार्ग अवरुद्ध तथा भीड़ उत्पन्न होती है जिसका की स्थानीय सब्जी व्यापारियों ने कलेक्टर से भीड़ कम करवाने की अपील की तथा अन्य जिलों से आने वाली गाड़ियों को एवं लोगों को सप्ताहिक बाजार के दिन रोकने की मांग सब्जी व्यापारियों ने मीडिया से चर्चा के दौरान यह भी बताया कि हमारे द्वारा जब आसपास गांव के हाट

बाजारों में सब्जियां लेकर बेचने जाने पर गांव के लोगों द्वारा हमें सब्जी बेचने नहीं दिया जाता बल्कि हमें बैरक लौटा दिया जाता है मगर वहीं दूसरी ओर आसपास गांव से आए लोगों द्वारा गांव तथा शहर दोनों ही जगह समान बिक्री की जाती है वाकई लोग पुराने बाजार में भी सब्जी का बिक्री धड़ल्ले से कर रहे हैं जिन पर रोक लगाने की अपील की रविवार सप्ताह में 1 दिन होने वाले बाजार में अक्सर कई बार अखबारों में भी डोर टू डोर सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाने की खबर प्रकाशित की गई है जिसको की देखते हुए स्थानीय व्यापारियों ने भीड़ कम करने की मांग जिला प्रशासन से की है अब देखना यह है की स्थानीय प्रशासन इन व्यापारियों के लिए किस प्रकार से व्यवस्था करवाती है कि सोशल डिस्टेंस का ना हो पाए उल्लंघनजिला मुख्यालय के सब्जी बाजार में हर रविवार सप्ताहिक बाजार के दिन मार्ग अवरुद्ध तथा भीड़ उत्पन्न होती है जिसका की स्थानीय सब्जी व्यापारियों ने कलेक्टर से भीड़ कम करवाने की अपील की तथा अन्य जिलों से आने वाली गाड़ियों को एवं लोगों को सप्ताहिक बाजार के दिन रोकने की मांग सब्जी व्यापारियों ने मीडिया से चर्चा के दौरान यह भी बताया कि हमारे द्वारा जब आसपास गांव के हाट बाजारों में सब्जियां लेकर बेचने जाने पर गांव के लोगों द्वारा हमें सब्जी बेचने नहीं दिया जाता बल्कि हमें बैरक लौटा दिया जाता है मगर वहीं दूसरी ओर आसपास गांव से आए लोगों द्वारा गांव तथा शहर दोनों ही जगह समान बिक्री की जाती है वाकई लोग पुराने बाजार में भी सब्जी का बिक्री धड़ल्ले से कर रहे हैं जिन पर रोक लगाने की अपील की रविवार सप्ताह में 1 दिन होने वाले बाजार में अक्सर कई बार अखबारों में भी डोर टू डोर सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाने की खबर प्रकाशित की गई है जिसको की देखते हुए स्थानीय व्यापारियों ने भीड़ कम करने की मांग जिला प्रशासन से की है अब देखना यह है की स्थानीय प्रशासन इन व्यापारियों के लिए किस प्रकार से व्यवस्था करवाती है कि सोशल डिस्टेंस का ना हो पाए उल्लंघन

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।