धर्मनगरी और भामाशाह का शहर है बीकानेर – कुमार पाल गौतम
May 2nd, 2020 | Post by :- | 81 Views
बीकानेर  ( रामलाल लावा  ) जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के चलते गरीब और जरूरतमंद व्यक्ति को भोजन सहित आधारभूत आवश्यकताओं की कमी ना हो इसके लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और ऊर्जा एवं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला की मंशा अनुसार बीकानेर के भामाशाह आगे बढ़ कर आमजन को भोजन के पैकेट, सुखा राशन सहित अन्य सुविधाएं मुहैया करा रहे हैं इसी कड़ी में आज सेवा संस्थान द्वारा ऐसे जरूरतमंद लोग जो किसी अन्य योजनाओं में आर्थिक मदद के पात्र नहीं हैं उनका चिन्हिकरण कर प्रति व्यक्ति एक हजार रूपये की आर्थिक सहायता देकर जो कार्य किया है अपने आप में है अनुकरणीय और सराहनीय कार्य है इस राशि से जरूरतमंद व्यक्ति अपनी दैनिक जरूरतों को पूरा कर सकेंगे।
कुमार ने सेवा संस्थान की ओर शनिवार को गोपेश्वर बस्ती स्थित गणगौर पैलेस में प्रति व्यक्ति एक हजार रुपए प्राप्त करने वाले लोगों में से उपस्थित कुछ बुजुर्ग महिला व पुरुषों से औपचारिक रूप से बातचीत करते हुए सहायता राशि के बारे में तथा लॉक डाउन और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न सरकारी योजनाओं में 60 वर्ष से अधिक के महिला पुरुष और सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग की ओर से संचालित हो रही पालनहार योजना तथा अन्य सामाजिक योजनाओं के बारे में बताया ।
कलक्टर ने कहा कि इस तरह के व्यक्ति जो किसी भी योजना में चयनित नही है तथा आर्थिक लाभ नहीं ले रहे हैं इनकी सूची जिला प्रशासन को भी उपलब्ध करवाएं ताकि सभी औपचारिकताएं पूरी करवा कर इन्हें विभिन्न योजनाओं से आर्थिक इमदाद दिलाई जा सकें। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा जो लॉक डाउन लगाया गया है यह कानून व्यवस्था संधारित करने के लिए ना हो होकर आमजन के स्वास्थ्य के लिए लगाया गया है। कोरोना जैसी बीमारी में बचाव ही उपचार है और इसका फैलाव ना हो इसके लिए सभी को सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए इस बीमारी से लड़ना है। इसलिए सरकार और प्रशासन द्वारा लॉक डाउन जैसी व्यवस्था की गई है। यह व्यवस्था और बेहतर रहे इसके लिए आप सबका सहयोग बहुत आवश्यक है।
कुमार ने कहा कि प्रशासन हर संभव कोशिश में है कि आमजन को कम से कम तकलीफ हो और उनका स्वास्थ्य बेहतर रहे इसी मंशा को ध्यान में रखते हुए बीकानेर में कुछ स्थानों पर निषेधाज्ञा लगाई गई है वही संपूर्ण जिले में लॉक डाउन की पालना करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि जब से लॉक डाउन लगा है तब से बीकानेर के भामाशाह आगे बढ़कर जरूरतमंद लोगों को भोजन के साथ-साथ सूखा राशन भी बड़ी संख्या में वितरित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे मौके में हम सब का यह दायित्व बनता है कि एक भी गरीब और जरूरतमंद व्यक्ति बिना भोजन के और आवश्यक सुविधाओं के ना रहे। इसमें भामाशाह और स्वयंसेवी संस्थाओं का सहयोग भी आवश्यक है,  जिला प्रशासन को सभी संस्थाओं और भामाशाह ने सहयोग करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी।
सेवा संस्थान के अध्यक्ष त्रिलोकी कल्ला ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते संस्थान ने ऐसे 700 व्यक्तियों का चयन किया है जो केंद्र व राज्य सरकार की किसी योजना में चयनित नहीं है, लेकिन जरूरतमंद है। ऐसे सभी लोगों को एक-एक हजार की सहायता राशि भेंट की गई है। गणगौर पैलेस में आज इसका प्रतीकात्मक शुभारंभ किया गया है। राज्य के ऊर्जा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने सेवा संस्थान को कहा है कि संकट की इस घड़ी में जरूरतमंद को मदद करने में आगे आकर कार्य करें। संस्थान के अध्यक्ष ने कहा कि हमारा यह ध्येय रहेगा की मंत्री जी के निर्देशानुसार प्रत्येक जरूरतमंद व्यक्ति की आर्थिक इमदाद उपलब्ध करवा सकें। सेवा संस्थान प्रत्येक व्यक्ति को आर्थिक सहायता देने के साथ-साथ वास्तविक जरूरतमंद लोगों की सूची बनाने का काम भी शुरू किया है यह सूची बन जाने के बाद पात्र व्यक्तियों को अन्य योजनाओं से जोड़ने के लिए भी संस्थान अपने स्तर पर जिला प्रशासन के सहयोग से विभिन्न विभागों में उनके आवेदन भरवा कर पेंशन योजना से जोड़ने का कार्य भी करेगी।
इस अवसर पर सेवा संस्थान के विजय भैया, विजय कालरा, गुरु बालक, अमान, माणक चंद व्यास, जितेंद्र पुरोहित, बृजमोहन चैधरी इत्यादि उपस्थित थे। भगतसिंह यूथ क्लब के कार्यकर्ताओं योगेेेश पुरोहित, विनोद जोशी, विजय पाल चैधरी, गोपाल खैरीवाल, शिवप्रकाश जोशी इत्यादि ने सारी व्यवस्थाएं संभाली। जयचंद डागा, राजेश जिन्दल, देवकिसन चांडक, किशनलाल गेधर, सुमित कोचर, बसंत डागा, अशोक कुमार पारख, टीकूराम मेघवंशी तथा होटल राजविलास  के भंवर खान भी उपस्थित थे। स्व. चन्द्रप्रकाश गहलोत मेमोरियल ट्रस्ट के अभिषेक गहलोत  भी उपस्थित थे।

’आपसे ही है उम्मीद साहब, बुजुर्गों की आंखों में दिखी चमक

जब जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम गणगौर पैलेस  में एक बुजुर्ग महिला के पास स्वयं कुर्सी लेकर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए बैठकर उनसे हाल-चाल जान रहे थे । तब  बुजुर्ग महिला ने बताया कि कि आपने इस संकट के समय जो हमारा सहयोग किया है उससे हमें बहुत बड़ा संबल मिला है । हमारी आपसे बहुत उम्मीदें है आप हमारी आवश्यक मदद करवावे। ऐसा कहते हुए बुजुर्ग महिला की आंखों में आत्मविश्वास की चमक दिखाई दे रही थी और वे दुगने जोश में नजर आ  रही थी। महिला ने कहा साहब  आप ही मदद करवा सकते हैं। हमे आप पर विश्वास है, क्योकि आप चलकर हमारी मदद के लिए आये  जितनी संभव हो हमें सरकारी इमदाद दिलवाने की व्यवस्था करवा दें। वहीं पर उपस्थित एक अन्य बुजुर्ग व्यक्ति ने भी जिला कलेक्टर से सरकारी स्तर पर सहयोग दिलाने की बात कही। जिला कलेक्टर ने कहा कि वे हर संभव प्रयास कर मदद करेंगे। गणगौर पैलेस का वातावरण सेवा कर्तव्य और संवेदना से महक रहा था। उपस्थित लोगों ने जिला कलेक्टर के आत्मीय व्यवहार की भरपूर प्रशंसा की।
——

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।