समय पर चिकित्सा, सुरक्षा और स्वच्छता के साथ हम कोरोना वायरस के प्रसार को रोक सकते है—एसडीएम अदिति
May 2nd, 2020 | Post by :- | 29 Views

नारायणगढ/शहजादपुर:(अशोक शर्मा) एसडीएम अदिति ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से घबराये नहीं सावधान रहें, समय पर चिकित्सा, सुरक्षा और स्वच्छता के साथ हम कोरोना वायरस के प्रसार को रोक सकते है। सोशल डिस्टेंसिंग यानि एक-दूसरे से उचित दूरी हमेशा बनाये रख कर कोरोना वैश्विक महामारी को फैलने से रोका जा सकता है।
उन्होने कहा कि कोरोना वायरस से जारी जंग में फ्रंट लाइन में लड़ रहे कर्मचारियों की स्क्रीनिग करवाने के अलावा स्वास्थ्य विभाग द्वारा डोर टू डोर जाकर भी मेडिकल जांच/स्क्रीनिग का कार्य किया जा रहा है। झूग्गी झोपडीयों में रहने वाले लोगों के स्वास्थय की भी जांच स्वास्थय विभाग द्वारा की जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी लोग इसमें सहयोग करें। उन्होंने कहा कि किसान हित को देखते हुए व एक स्थान पर भीड़ न हो और सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे इसलिए गेहूं खरीद के लिए अनाज मण्ड़ीयों के अलावा अतिरिक्त खरीद केन्द्र बनाये गये है। इसी प्रकार सब्जी मण्ड़ी में भी सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था बनी रहे इसके लिए बकायदा मार्किट कमेटी व पुलिस को विशेष जिम्मेवारी सौंपी गई है। शहर में सब्जी की बिक्री के लिए रेहडीयां वार्डो में जा रही है। सब्जी विक्रेताओं व सब्जी मण्डी आढती एसोसिएशन को भी चाहिए कि वे प्रतिदिन यह सुनिश्चित करें कि सब्जी मण्ड़ी में अनावश्यक भीड़ न हो और व्यवस्था अनुरूप सब्जी/फल को बेचने एवं खरीदने का कार्य हो।
उन्होने कहा कि जैसा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी 26 अप्रैल 2020 के मन की बात कार्यक्रम में लोगों से आग्रह किया था कि वे अति-आत्मविश्वास के जाल में न फंसे और यह विचार न पालें कि यदि कोरोना अभी तक उनके शहर, गांव, गली या दफ्तर में नहीं पहुंचा है, तो वह अब पहुंचने वाला नहीं है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने विशेष जोर देते हुए कहा था कि ‘दो गज दूरी, बहुत है जरूरी’ हमारा मंत्र होना चाहिए और लोगों को दो गज की दूरी अवश्य बनाए रखनी चाहिए एवं खुद को स्वस्थ रखना चाहिए। अति-उत्साह में, स्थानीय-स्तर पर या कहीं पर भी कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए और लोगों को हमेशा इसका ध्यान रखना ही होगा।
‘आरोग्यसेतु’ नाम का यह ऐप प्रत्येक भारतीय के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए डिजिटल इंडिया से जुड़ा है। ‘आरोग्य सेतु’ एप को लोकप्रिय बनाना आज के समय की जरूरत है ताकि अधिक से अधिक संख्या में इसे डाउनलोड करना सुनिश्चित किया जा सके। इस एप के द्वारा कोविड-19 से जुड़ी सारी जानकारियां मिल पाएगीं, कोरोना वायरस संक्रमण के खतरें और जोखिम का सटीक आकलन, कोरोना के लक्षणों के आधार पर स्व-आकलन की सुविधा तथा सभी राज्यों के हेल्प डेस्क नंबर्स उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि इस महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में यह एप एक आवश्यक साधन साबित होगा।
यह लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण पकडऩे के जोखिम का आकलन करने में सक्षम करेगा। उन्होंने बताया कि 11 भाषाओं में यह एप उपलब्ध है तो खुद भी डाउनलोड करें और अपने नजदीकी लोगों को इस बारे में जानकारी दें। अपडेट रहने के लिए ‘आरोग्य सेतु’एप को नियमित रूप से चेक करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।