सेक्टर 30 कुरुक्षेत्र में कोरोना योद्धाओं का पुष्प वर्षा एवं तालियाँ बजाकर स्वागत व अभिनंदन किया
May 1st, 2020 | Post by :- | 49 Views

कुरुक्षेत्र, ( सुरेशपाल सिंहमार )    ।  करोना नामक वैश्विक महामारी के मद्देनजर सेक्टर 30 कुरुक्षेत्र के निवासियों ने समाज सेवा में जुटे रोटी बैंक कुरुक्षेत्र के प्रधान सेवक एवं डायमंड रक्तदाता डॉ अशोक वर्मा एवं सफाई कर्मचारियों का पुष्प वर्षा से अभिनंदन एवं धन्यवाद किया। इस अवसर पर रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान पंडित सुरेश कुमार, उप प्रधान शीशपाल चौहान, पूर्व प्रधान सतपाल रढ़ान, अवनीश गोयल, एच एस सैनी, सरदार इंद्रजीत सिंह, अशोक शर्मा, डीडी सैनी, एसके शर्मा, हरपाल सिंह, रामचंद्र कौशिक, आगम प्रकाश, डॉ तरसेम कौशिक, सुरेंद्र कुमार एवं एसोसिएट एनसीसी ऑफिसर डॉ केवल कृष्ण ने  कोरोना नामक वैश्विक महामारी के समय में अपने दायित्व का पूरी निष्ठा से निर्वहन करने वाले सेवा कर्मियों का तालियाँ बजाकर एवं पुष्प वर्षा से स्वागत व अभिनंदन किया।

समाजसेवी अशोक शर्मा ने सेनेटाइजर एवं अवनीश गोयल ने कोरोना योद्धाओं को मास्क वितरित किये। एसोसिएसन के प्रधान पंडित सुरेश कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते रोटी बैंक कुरुक्षेत्र अपनी अहम भूमिका निभा रहा है और लगभग 1500 जरूरतमंद लोगों को भोजन वितरित कर रहा है। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन के मद्देनजर एक ओर जहाँ सभी सामाजिक दूरी का निर्वहन कर रहें हैं वहीं दूसरी ओर सफाई कर्मचारी, माली इत्यादि कोरोना योद्धा पूर्ण निष्ठा व निर्भीकता से सेक्टर 30 में साफ-सफाई का कार्य पूर्ण ईमानदारी से कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि हमें कोरोना योद्धाओं का सम्मान करने का मौका मिला।

उन्होंने  बताया कि थानेसर के यशस्वी विधायक सुभाष सुधा के सहयोग से सेक्टर 30 को तीन बार सैनिटाइज करवाया जा चुका है। एच एस सैनी ने कोरोना योद्धाओं का धन्यवाद करते हुए सभी से आह्वान किया कि कृपया सामाजिक दूरी का पालन करें  तथा घर से बाहर निकलते समय मास्क अथवा रुमाल का प्रयोग करें। इस अवसर पर रोटी बैंक के प्रधान स्टार रक्तदाता डॉ अशोक वर्मा ने सभी का धन्यवाद करते हुए कहा कि सेक्टर 30 के लोग सेवाभावी है जो प्रतिदिन लगभग 500 रोटियां एकत्रित कर रोटी बैंक के लिए देते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।