प्रवासी श्रमिकों को उनके घर भेजने का कार्य निरंतर जारी–22 श्रमिकों को शुक्रवार प्रात: भेजा गया राजस्थान-उपायुक्त
May 1st, 2020 | Post by :- | 21 Views

अम्बाला ( अशोक शर्मा )   :-     जिला प्रशासन द्वारा लॉकडाउन के चलते प्रवासी श्रमिकों को भेजने का काम निरंतर जारी है। शुक्रवार प्रात: अम्बाला छावनी बस स्टैंड से 22 श्रमिकों को राजस्थान भेजने का काम किया गया है। इस दौरान श्रमिकों को सैनीटाईजर, मास्क व खाने का सामान भी उपलब्ध करवाया गया ताकि रास्ते में श्रमिकों को किसी परेशानी का सामना न करना पड़े। इससे पहले भी जिला प्रशासन द्वारा शैल्टर होम में रह रहे श्रमिकों को उनके घर सकुशल भिजवाने का कार्य किया गया है।

उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने इस सन्दर्भ में जानकारी देते हुए बताया कि लॉकडाउन के चलते काफी प्रवासी श्रमिक यहां रूके हुए थे। प्रवासी श्रमिकों को इस दौरान जिला प्रशासन द्वारा सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाने का काम किया गया था। इससे पहले सरकार के दिशा-निर्देशानुसार 3500 से अधिक प्रवासी श्रमिकों को अम्बाला रोडवेज की बस के माध्यम से उनके राज्यों, जिलों में पहुंचाने का काम किया गया है। शुक्रवार प्रात: अम्बाला छावनी के डीएवी स्कूल में रह रहे 22 प्रवासी श्रमिकों को पंचकूला रोडवेज की बस के माध्यम मैडिकल चैकअप करवाने उपरान्त राजस्थान भेजने का काम किया गया है। प्रवासी श्रमिकों को राजस्थान भेजने के लिए एसडीएम सुभाष सिहाग ने पहले ही रूप रेखा तैयार कर ली थी।

अपने घर जाते समय राजस्थान जिले के ढोलपुर निवासी अजय बाबू, शनि, संदीप ने बताया कि वह जिला प्रशासन का धन्यवाद करते हैं कि जहां उन्होंने पिछले एक माह से ज्यादा समय तक उन्हें यहां पर रखकर बेहतर व्यवस्था उपलब्ध करवाई और आज उन्हें घर भेजने का जो काम किया है उसके लिए वे उनके आभारी रहेंगे। उनका कहना था कि आज घर जाते समय भी उनके स्वास्थ्य की जांच कर और सावधानी के तहत उन्हें मास्क व सैनीटाईजर भी उपलब्ध करवाए गये हैं। बीकानेर जिले के शेरपुर निवासी मनोज, सिकपुर निवासी जितेन्द्र, ढोलपुर निवासी सर्जन सिंह, सुमंत ने बताया कि आज उन्हें बड़ी खुशी हो रही है कि वे अपने घर जा रहे हैं जहां वह अपने परिवार वालों से मिल सकेंगे, वहीं परिवार वालों की जो चिंता थी वह भी खत्म हो जायेगी। उन्होंने सरकार का भी धन्यवाद किया कि उन्हें उनके जिलों में भेजने की जो व्यवस्था की गई है उसके लिए वे उनके आभारी हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।