पावरकॉम के कर्मियों और मेहनतकश लोगों ने मई दिवस पर शहीदों को किया याद ।
May 1st, 2020 | Post by :- | 167 Views

पावरकॉम के कर्मियों और मेहनतकश लोगों ने मई दिवस पर शहीदों को किया याद ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
मई दिवस के मौके पर लोकडौन के दौरान समाजिक दूरी की पालना करते हुए बिजली कर्मियों की जत्थेबंदी एम्प्लाइज फेडरेशन चाहल के बुलावे पर बिजली कर्मियों ने जत्थेबंदी का केसरी झंडा फहरा कर मई दिवस के शहीदों को श्रद्धा के फूल भेंट किये ।आज के दिन अमेरिका के शहर शिकागो में मेहनतकश लोगों ने काम के 8 घण्टे करने के लिए अपने हकों की आवाज़ बुलंद की थी। उस समय सरकारी ज़बर के साथ मेहनतकश लोगों को शहादत देनी पड़ी। जत्थेबंदी द्वारा बयान जारी करते हुए राज्य प्रधान गुरदेव सिंह बलपुरिया ,महासचिव मनजीत सिंह चाहल और प्रेस सचिव प्रताप सिंह सूक्खेवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने कोविड 19 की आड़ में 51 लाख कर्मियों और 60 लाख पेंशनरों के महंगाई के भत्ते के 1,20,095करोड़ रोककर 1 करोड़ 11 लाख लोगों की जेब पर सेंधमारी की है जबकि कारपोरेट घरानों के 68 हज़ार करोड़ रुपये के कर्ज़े माफ कर उन्हें मालामाल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सेहत ,पुलिस ,बिजली ,नगर निगम ,मंडी बोर्ड और अन्य विभागों द्वारा कोविड 19 म्हांमारी के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने कर्मचारियों के साथ वर्ष 2017 में वादा किया था कि केंद्र सरकार की तर्ज़ पर 1 जनवरी वर्ष 2016 से तनख्वाह कमीशन रिपोर्ट लागू की जाएगी। महंगाई भत्ते की किश्तें गत वर्ष 1 जनवरी 2017 से पेंडिंग पड़ी हुई हैं ।इसके इलावा वर्ष 2004 के बाद भर्ती होने वाले कर्मियों की पेंशन बन्द कर दी गई। युवा वर्ग विदेश की ओर आकर्षित हो रहा है ।उन्होंने ने कर्मियों और मजदूर वर्ग को सरकार के विरुद्ध सँघर्ष करने का न्योता दिया है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।