हमें शहीदों की कुर्वानियों को भुलाना नहीं चाहिए, शहीद किसी एक परिवार का नहीं होता शहीद सभी का होता है: राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर |
September 3rd, 2019 | Post by :- | 61 Views

मंत्री गुर्जर ने होडल विधानसभा के गांव औरंगाबाद महलनूमा ग्राम सचिवालय का किया उद्घाटन|

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट)  :- होडल विधानसभा के गांव औरंगाबाद में ग्राम पंचायत की ओर से शहीद सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यअतिथि के रूप में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर मुख्यअतिथि के रूप में मौजूद थे जबकि अध्यक्षता गांव के सरपंच हरदीप सिंह ने की। समारोह के इस मौके पर शहीदों के परिजनों, पूर्व सैनिकों व मेघावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के इस अवसर पर गुर्जर ने गांव में करोडों रुपये की लागत से नवनिर्मित ग्राम सचिवालय व रघुबर दास पार्क का शिलान्यास किया। समारोह के इस मौके पर सरपंच हरदीप सिंह ने गांव में व्याप्त समस्याओं के संबंध मंत्री को 14 सूत्रीय मांग पत्र भी सौंपा।

गांव औरंगाबाद में आयोजित शहीद दिवस समारोह के दौरान मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि आज जो हम अपने घरों में आजादी से चैन की सांस ले रहे हैं वह शहीदों की देन है। हमें उन शहीदों की कुर्वानियों की भुलाना नहीं चाहिए और शहीदों के परिवार की मदद में आगे बढ चढकर हिस्सा लेना चाहिए। शहीद किसी एक परिवार का नहीं होता शहीद सभी का होता है। मंत्री गुर्जर ने स्टेज से उतरकर समारोह में मौजूद शहीदों के परिजनों के बीच पहुंचकर उनका सम्मान कर उनका आर्शीवाद लिया। कार्यक्रम के इस मौके पर ग्रामीणों ने मंत्री का फूल-मालाओं व पगडी बांधकर स्वागत किया।

कार्यक्रम के समापन के बाद मंत्री गुर्जर ने महलनूमा ग्राम सचिवालय का उद्घाटन करने के दौरान सरपंच हरदीप को बधाई दी और कहा कि उनका ग्राम सचिवालय पूरे पलवल जिले में आकर्षण का केंद्र रहेगा। मंत्री गुर्जर ने समारोह के इस अवसर पर गांव के मेघावी छात्रों को पुरूस्कार देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम के इस मौके पर बीजेपी नेता हरेन्द्र सिंह, बामनीखेडा सरपंच महाबीर सिंह, पूर्व विधायक रामरतन, मितरौल सरपंच अधिवक्ता जोगेंद्र, बांसवा सरपंच टेकचंद, प्रवीन डागर, बवली पार्षद, गोपालगढ सरपंच राजकुमार, राजू तायल, जगप्रिय, अशोक चौहान, प्रताप मेम्बर, राजेंद्र सिंह , नत्थी, जवाहर चौहान, अशोक चौहान के अलावा अन्य गांवों के पंच, सरपंच, व हजारों की संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।