कोरोना वैक्सीन के लिए एक समाजसेवी युवा ने अपने शरीर का दान कर दिया
April 29th, 2020 | Post by :- | 248 Views

खाजूवाला (रामलाल लावा)  जिस तरह कोरोना से पूरे विश्व मे महामारी का रूप ले रखा है,उसके लिए जिला उपाध्यक्ष राकेश कस्वां भाजयुमो बीकानेर द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखा गया।
कस्वां ने बताया कि कोरोना ने पूरे विश्व में महामारी फेल रही है,जिससे दर्जनों देशो में लोकडाउन चल रहा है,इस लोक डाउन से देश के विकाश पर भी गहरा असर पड़ रहा है, गम्भीर बात तो ये हैं कि इस महामारी का अभी तक स्थायी उपाय नही हो पाया हैं,जब तक इसकी कोई दवाई खोजी जायेगी तब तक बहुत नुकसान हो जाएगा ओर रही बात वैज्ञानिक और विशेषज्ञ भी लगातार उपाय में लगे हुए है मगर इतना जल्दी उपाय सम्भव नही हो पा रहा है, क्योकि कोई भी वेक्सीन के लिए पहले जानवरो पर या अन्य जगह प्रयोग की आवश्यकता होती हैं जो बहुत समय ले लेती है।
कस्वां ने प्रधानमंत्री को पत्र में कहा कि कोरोना वायरस की इस वैश्विक महामारी में विश्व संकट से जूझ रहा है ओर प्रतिदिन लाखो लोग इस महामारी से संक्रमित होकर बेमौत मर रहे हैं,ऐसे में अगर कोरोना वायरस की दवाई के प्रयोग के लिए सरकार व चिकित्सको को मानव शरीर की आवश्यकता हो जिस पर वेक्सीन का प्रयोग करना चाहते है तो इस प्रयोग के लिए में अपना शरीर देने के लिए तैयार हूं,इसमे वेक्सीन का प्रयोग सफल रहता हैं तो हमारे चिकित्सक विश्व मे करोड़ो लोगो का जीवन बचा सकते हैं,मानवहित के लिए इससे बड़ा कोई परोपकार नही होगा और इस वेक्सीन परीक्षण में मेरी जान भी जाये तो मुझे कोई गम नही है,मेरे ऊपर कोई दबाव नही है,में अपनी इच्छा शक्ति से मेरे शरीर का दान कर रहा हूं,मेरे शरीर का उपयोग करने से अगर कोई कोरोना की वेक्सीन (दवाई) तैयार होती हैं तो मेरे माता-पिता के लिए बहुत ही गर्व की बात होगी और भारत के साथ-साथ सम्पूर्ण पृथ्वी का संकट काल भी टल सकता हैं,

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।