आयुष मंत्रालय भारत सरकार की एडवाईजरी को अपनाकर भी बढ़ाये अपनी इम्यूनिटी:— गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
April 29th, 2020 | Post by :- | 102 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा) गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए छोटी-छोटी सावधानियां भी बड़ी-बड़ी सफलताएं प्रदान करने का काम कर रही हैं। इन्हीं छोटी-छोटी सावधानियों में सफलता के मूल-मंत्र छिपे हैं। प्रदेश के सभी नागरिकों को चाहिए कि वे सामाजिक दूरी बनाएं रखें। सरकार द्वारा जारी निर्देशों की अनुपालना में मास्क इत्यादि का उपयोग करते रहें। निर्धारित समय अवधि के दौरान साबुन से हाथ धोतें रहे और यदि बुखार इत्यादि की शिकायत लगे तो डॉक्टर से आवश्य चैक करवाएं।
शारीरिक क्षमता और दक्षता बढ़ानें सम्बधी विषय पर विज ने कहा कि आयुर्वैद को हमारें प्राचीन ग्रंथों में स्वास्थ्य के लिए सदैव लाभकारी बताया गया है। अतीत में देखा जाए तो हमारे ऋ षि मुनि तो आयुर्वैद को अपने जीवन में विशेष महत्व देते थे। ऐसे समय में जबकि कोरोना वैश्विक महामारी फैल रही है तो इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वैदिक जड़ी बुटियों का सहारा भी लिया जा सकता है। काफी लोग इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक पद्घति का उपयोग भी कर रहें हैं। कोविड-19 की महामारी के चलते आयुष मंत्रालय भारत सरकार की तरफ से भी विभिन्न एडवाईजरी जारी की गई है। हालांकि आयुष मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि एडवाइजरी में बताई गई बातें कोविड-19 का इलाज नहीं हैं। लोग अपनी सहूलियत, उपलब्धता एवं अनुभव के आधार पर इनका इम्यूनिटी बढ़ाने में प्रयोग कर सकते हैं।
उन्होंने आगे कहा कि हरियाणा प्रदेश में सरकारी निर्देशों की अनुपालना के तहत लोगों की सुझबुझ और सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों की अनुपालना के दृष्टिïगत कोरोना के फैलने पर नियंत्रण लगा हैं। प्रदेश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 67 प्रतिशत से अधिक हैं, जो कि देश के अन्य राज्यों की तुलना में बहुत अच्छा हैं। आने वाले समय में कोरोना महामारी पर नियंत्रण करने के दृष्टिïगत हरियाणा प्रदेश के प्रयास फलीभूत होगें। उन्होनें फ्रटफूट की लड़ाई लड़ रहे डॉक्टर, नर्स, पैरावालियंटीयर, सफाई कर्मी और पुलिस विभाग को शाबाशी देते हुए कहा कि प्रदेश की स्थिति को सम्भालनें और नियंत्रण करने में इन सभी सहित अन्य सम्बधिंत विभागों का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा हैं। कोरोना को खत्म करने के प्रयासों में और तेजी लाए जाने की जरूरत हैं, ताकि इस महामारी को जड़ से खत्म किया जा सके। उन्होनें यह भी कहा कि प्रदेश के सभी अस्पतालों पर्याप्त उपकरण उपलब्ध हैं। कोरोना को हराने के लिए घबराने की नहीं बल्कि पूरी तरह से सावधानी बरतनें की जरूरत हैं।
उल्लेखनीय है कि कोविड-19 न फैले, इसके लिए जहां देशव्यापी लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाया हुआ है। गत दिनों देशवासियों को सम्बोंधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों से अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए, आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करने को कहा था कि गर्म पानी, काढ़ा का निरंतर सेवन करें। प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान पर लोगों ने इस पर अमल करना भी शुरू कर दिया है। आयुष मंत्रालय द्वारा कोरोना संकट के बीच आयुष मंत्रालय द्वारा सेहत सही रखने और इम्युनिटी मजबूत करने को लेकर कुछ दिशानिर्देश जारी किए हुए हैं, जिनकी हमें पालना करनी चाहिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।