विश्व पुलिस गेम्स में हरियाणा पुलिस के खिलाड़ियों को जलवा 10 गोल्ड सहित जीते 17 मेडल
September 3rd, 2019 | Post by :- | 594 Views

चंडीगढ़, ( महिन्द्र पाल सिंहमार ) ।  हरियाणा पुलिस के जवानों का हाल ही में चीन में संपन्न हुए विश्व पुलिस और फायर गेम्स में शानदार प्रदर्शन रहा। इन गेम्स में प्रदेष पुलिस के खिलाडियों ने 10 गोल्ड सहित कुल 17 मेडल हासिल किए।

पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा पुलिस के नौ खिलाड़ियों के दल ने 17 पदक जीते जिसमें कुश्ती, मुक्केबाजी और तैराकी में 10 गोल्ड, कुष्ती व तैराकी में 5 सिल्वर तथा तैराकी में 2 कांस्य पदक शामिल हैं।

तैराकी में मिली बडी सफलता
इन खेलों में, सबसे बडी कामयाबी द्वितीय बटालियन के इंस्पेक्टर पुनीत राणा को मिली जिसने तैराकी में अधिकतम आठ मेडल हासिल किए। पुनीत ने 50 मीटर और 100 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक स्पर्धाओं में एक-एक स्वर्ण पदक, 50 मीटर फ्रीस्टाइल में एक रजत पदक और बटरफलाई स्पर्धा में एक कांस्य पदक अपने नाम किया। चार अलग-अलग रिले स्पर्धाओं में पुनीत ने दो स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक जीतकर कुल आठ पदक अपने नाम किए।

कुष्ती में भी लगाया सटीक दाव
डीएसपी गीतिका जाखड़ और जींद की इंस्पेक्टर निर्मला ने कुश्ती स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता। इसीप्रकार, असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर मंजीत ने 86 किलोग्राम कुश्ती में दो स्वर्ण पदक जीते तथा 5वीं बटालियन के इंस्पेक्टर राजेंदर ने भी कुष्ती में रजत पदक जीता। फरीदाबाद के कांस्टेबल बलजीत ने ग्रीको-रोमन में 130 किलोग्राम में स्वर्ण और 125 किलोग्राम फ्री-स्टाइल कुश्ती स्पर्धा में रजत पदक जीता। फरीदाबाद के कांस्टेबल मोहनी ने 75 किलोग्राम वर्ग की कुश्ती स्पर्धा में रजत पदक अपने नाम किया। इसी प्रकार, 5वीं बटालियन की सब-इंस्पेक्टर कविता चहल ने मुक्केबाजी में दमखम दिखाते हुए स्वर्ण पदक झटका।

डीजीपी मनोज यादव ने दी बधाई
पुलिस महानिदेशक, हरियाणा, श्री मनोज यादव ने अंतर्राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए हरियाणा पुलिस के खिलाडियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी पुलिस के खिलाडी राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धाओं में प्रदेष व देष का नाम रोषन करते रहे हैं। पुलिस विभाग के खिलाडियों को प्रशिक्षण के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी ताकि वे आगामी अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में देश की पदक तालिका में अधिकतम योगदान देकर राज्य तथा पुलिस महकमें का नाम रोषन कर सकें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।