हिमाचल सरकार की पाबंधी के बाबजूद भी प्रदेश की सबसे बड़ी मंडी डमटाल में धड़ले से ओर मनमाने रेटो पर  बिक रहा तंबाकू ,गुटका ओर चैनी खैनी
April 28th, 2020 | Post by :- | 478 Views
गगन ललगोत्रा/मुकेश सरमाल(टीम इंदौरा)
हिमाचल सरकार की पाबंधी के बाबजूद भी प्रदेश की सबसे बड़ी आनाज मंडी  डमटाल  में धड़ले से ओर मनमाने रेटो पर  बिक रहा तंबाकू ,गुटका ओर चैनी खैनी
दुकानदारों ने मचाई लूट,  “”सरकार की कैसी है ये छुट!
करोना महामारी से देश और नागरिक तो तंग है ही लेकिन दुकानदारों की लूट ने उनकी हालत बदहाल कर दी है दुकानदार अपने मनमर्जी भाव लगा लोगों को ठगने का काम करने  में लगे जिससे आम जनमानस बदहाली के आंसू रो रहा है ऊपर से करोना कि मार ने सभी लोगों का काम छीन लिया है जिस वजह से वे घरों में रहने को मजबूर हैं ओर  सरकार की गाइडलाइन पर जीने को मजबूर हैं ऐसे में कुछ दुकानदार उनकी इसी कमजोरी का फायदा उठाते हुए और सरकार के दिशा निर्देशों की धज्जियां उड़ाते हुए उनको लूटने का काम करने में लगे हुए हैं  जिससे प्रशासनिक अधिकारी बेखबर हैं ऐसे ही कई मामले इंदौरा विधानसभा क्षेत्र में पड़ते गाँवों की दूकानों में देखने को मिल रहे हैं मंड क्षेत्र के गाँवो मिलबा, ठाकुरद्वारा ,मंड मियानी,आदि गाँवो में दूकानदार बिना दूकानों पर रेट लिस्ट लगाकर ग्राहकों से अधिक पैसे लगाकर  लूट रहे है । यहाँ तक की कईयों ने कुछ दिन पहले फूड इंस्पेक्टर इंदौरा की दविश होने के चलते दूकानों पर लिस्ट लगाई भी थी और इर मात्र दिखाबे के लिए ही है और उसको न मानते हुए रेट मनमर्जी के लगाए जा रहे है। इस क्षेत्र के दुकानकर पाबंधी के बाबजूद भी चैनी खैनी, गुटका,सिगरेट आदि नशे के सेबन की चीजो को सरेआम 4 गुना रेटो पर बेच रहे है ।जिसमें 10 रुपए जा 15 रुपए का गुटका खैनी ठाकुरद्वारा ओर मंड एरिया की दूकानों पर 20 से 30 रुपए यहाँ तक की कई 35 रुपए में भी बेच रहे है और बीड़ी सिगरेट के भी रेट दुगने लगाकर बेच रहे है। ओर बेखौफ होकर जनता खून चूसने में लगे हैं जैसे उन पर कोई अधिकारिक डर ही ना हो  ऐसे में जनता जाए तो जाए कहां।
हिमाचल प्रदेश में इन चीजों पर सरकार द्वारा लगाई गई पूर्णता पाबंधी के बाबजूद भी प्रदेश की  सबसे बड़ी अनाज मंडी डमटाल यह चीजे परचून दुकानदारो को बड़ी आसानी से मिल जा रही है। इस मंडी में एक व्यापारी जोकी पठानकोट से इन प्रतिबंधित चीजो को लाकर अपनी दुकान पर खुरदरा मूल्य से अधिक रेट लगाकर ओर प्रशाशन की आंखों में धूल झोंक कर सरेआम अपनी दूकानों में रख कर क्षेत्र के दुकानदारों को बेच रहा है ।और दुकानदार भी अपनी दुकानो पर इनको चुगने रेटो पर बेच रहे है।
 जहां प्रिंट रेट से भी ज्यादा रेट आम जनता से वसूले जा रहे हैं जबकि आधिकारिक तौर पर कोई भी दुकानदार अधिकतम खुदरा मूल्य लगा किसी भी वस्तु को नहीं दे सकता है लेकिन इस आपदा की घड़ी में बे मनमाने तरीके से इस कालाबाजारी को अंजाम दे रहे हैं!
दूसरी तरफ दुकानदार गुटका, तंबाकू  ,खैनी बीड़ी, सिगरेट जैसे पदार्थों पर तो पर तो 4 गुना अधिक रेट लगाकर जनता के बीच यह नशा परोसने में लगे है जबकि आधिकारिक तौर पर ऐसे नशीले  पदार्थों पर प्रतिबंध है उसके बावजूद भी प्रशासन की आंखों में धूल झोंक यह कालाबाजारी हो रही है। आखिर प्रशाशन डमटाल में ऐसी प्रतिबंधित चीजो को बेचने बाले होलसेज दुकानदारो पर कब कार्यबाही अमल में लाएगा,जिसका जनता को काफी समय से देखने का इंतजार है
इस संबंध में जब डीएसपी नूरपूर डॉ साहिल अरोड़ा से बात की गई तो उन्होंने कहा के गुटका खैनी तंबाकू आदि बेचने पर हिमाचल प्रदेश में प्रतिबंद्ध है । अगर कोई किसी भी दुकान पर यह सब बिकता पाया गया तो उस दुकानदार के खिलाफ बनती कार्यबाही की जाएगी ।
इस संवंध में जो फूड  इंस्पेक्टर इंदौरा मनोज मेहरा से बात की गई तो उन्होंने कहा के अगर डमटाल मंडी में कोई व्यापारी ऐसी प्रतिबंधित चीजो को बेच रहा है तो पता पता लगाकर उनके खिलाफ बनती कार्यबाही की जाएगी

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।