ग्राम बेरका मे हवलदार राकेश को गमगीन माहौल में दी अंतिम विदाई, 7 वर्षीय पुत्र कुणाल ने दी मुखाग्नि
April 28th, 2020 | Post by :- | 60 Views

कठूमर, अलवर ( अशोक भारद्वाज):-

उपखंड क्षेत्र के ग्राम बेरका में हवलदार राकेश सिंह को मंगलवार सुबह 10:00 बजे अंतिम विदाई दी गई। व हवलदार के बड़े बेटे 7 वर्षीय कुणाल ने चाचा सतवीर के सहयोग से अपने पिता को मुखाग्नि दी। इससे पूर्व हवलदार का पार्थिव शरीर सोमवार देर रात्रि जयपुर से अलवर पहुंचा। वहां से अगले दिन सेना के एक वाहन द्वारा सड़क मार्ग होते हुए सुबह 9:00 बजे कठूमर कस्बे के भनोखर तिराहे पर पहुंचा। जहां युवाओं द्वारा वाहन में रखे हवलदार के पार्थिव शरीर पर पुष्प वर्षा की गई। और भारत माता की जय जय कार और राकेश सिंह अमर रहे नारे लगाकर आकाश को गुंजायमान कर दिया।
ज्ञात रहे कि जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के हीरा सेक्टर में सेना की आठ जाट बटालियन में हवलदार पद पर तैनात राकेश सिंह गत शुक्रवार को राइफल से गोली चलने से घायल हो गए जिन्हें गंभीर अवस्था में सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान हवलदार ने दम तोड़ दिया। और कोविड-19 व फ्लाइट स्वीकृति एवं खराब मौसम के चलते शव 5 दिन बाद पैतृक गांव बैरका पहुंच पाया। जैसे ही मंगलवार को जवान का पार्थिव शरीर ग्राम बेरका पहुंचा तो वहां उसकी 55 वर्षीय मां हीरो देवी पत्नी मीरा कुमारी व  बच्चे 7 वर्षीय कुणाल व 5 वर्षीय राजकुमार सहित भाइयों, परिजन व ग्रामीणों की रुलाई फूट पड़ी। बाद में गमगीन माहौल में गांव के बाहर स्थित उनके खेत पर हवलदार राकेश सिंह को अंतिम विदाई दी गई। इस मौके पर एसडीएम अनिल कुमार सिंघल, डीएसपी भूपेंद्र कुमार शर्मा, तहसीलदार भोलाराम, कठूमर एसएचओ राजेश वर्मा, सेवानिवृत्त सूबेदार विजय सिंह और बेरका सरपंच कल्लू सिंह , पूर्व सरपंच भगवान सिंह, हवलदार के पार्थिव शरीर के साथ आए 8 जाट बटालियन के अधिकारी रामदीन सिंह व नरेंद्र सिंह, जितेंद्र सोलंकी एवं 8 जाट बटालियन के पूर्व जवान अजीत सिंह द्वारा पुष्प चक्र अर्पित कर पुष्पों के साथ श्रद्धांजलि दी गई।
इससे पूर्व कानून एवं व्यवस्था बनाने हेतु व धारा 144 व लाॅक डाउन की पालना के लिए ग्राम बेरका में  लक्ष्मणगढ़,खेरली ,कठूमर सहित भारी पुलिस बल, क्यू आरटी टीम आदि का जाब्ता तैनात किया गया‌। और आपात स्थिति से निपटने के लिए डॉक्टर हेमंत वर्मा के नेतृत्व में चिकित्सा टीम, अग्निशमन वाहन व बिजली कर्मी मौजूद थे।
 इसके अलावा पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा माईक द्वारा मुनादी कर लोगों से सोशल डिस्ट्रेसिंग रखने को कहा गया। व्यवस्था बनाने में ग्राम विकास अधिकारी चंद्रेश गुप्ता, कानूनगो लोकेश मीणा, पटवारी रविन्द्र सिंह आदि ने सहयोग किया।
फोटो:-हवलदार राकेश सिंह के छोटे भाई सतवीर व हवलदार के पुत्रों को तिरंगा सौंपते सेना के जवान रामदीन सिंह व अन्य।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।