किसान मजदूरों ने गेहूं की खरीद के सबंध में केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ किया रोष प्रदर्शन ।
April 28th, 2020 | Post by :- | 137 Views
सैंकड़े किसान मजदूरों ने गेंहू की खरीद के सबंध में पंजाब सरकार के खिलाफ किया रोष प्रदर्शन ।

जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
किसान  मजदूर सँघर्ष कमेटी पंजाब की अध्यक्षता में जिला अमृतसर के प्रधान लखविंदर सिंह वरियाम नंगल ,सीनियर मीत प्रधान रणजीत सिंह कल्टरबाला ,सचिव जर्मनजीत सिंह बंडाला ,राज्य सचिव गुरबचन सिंह चब्बा की अध्यक्षता में जत्थेबंदी द्वारा बनाये गए प्रोग्राम के अनुसार आज जिला अमृतसर के अलग अलग जोनों के 70 गांव में केंद्र और पंजाब सरकार के खिलाफ झंडे मार्च  कर नारेबाज़ी की गई ।इस मौके पर किसान नेताओं ने रोष मार्च को संबोधित करते हुए किसानों को मंडियों में गेहूँ की खरीद के लिए पास जारी करने के सिस्टम से परेशान ,कैप्टन सरकार के प्रबंधो की खुली पोल और केंद्र सरकार द्वारा विशव व्यापार संस्था के दबाव में ,कृषि उत्पादन मार्किट कमेटी के एक्ट में संशोधन कर कृषि मार्किट को तोड़ने और कॉरपोरेट घरानों को निजजी साइलो गुदाम बनाने की छूट देने के फैसले की कड़ी निंदा की है। उन्होंने ने मुख्यमंत्री द्वारा जिलों में अफसरशाही दौरों की बनाई नीति को रद्द कर ,मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों को साथ लेकर की  किसानों  का खुद दर्द सुनें ।गेहूं की खरीद में जमीनी हकीकत से ना मेल खाती शर्तें हटाकर बारदाना सीधा गांव में दिया जाए ।48 घण्टों के भीतर अदायगी के साथ साथ गेंहू की फसल पर 200 रुपये प्रति क्विंटल बोनस ,देश के कुल घरेलू उत्पाद का 10 प्रतिशत करीब 10 लाख करोड़ का पैकेज किसानों और 42 करोड़ गरीब और मजदूरों को तुरंत दिया जाए ।5 एकड़ तक ज़मीन वाले किसानों को मनरेगा स्कीम के तहत लाया जाए ।सभी किसानों के जॉब कार्ड बिना किसी भेदभाव के दिये जाएं। गेहूं ,धान समेत 23 फसलों के भाव स्वामीनाथन कमीशन की  रिपोर्ट लागू कर इनकी सरकारी खरीद की गरंटी दी जाए। निजजीकर्ण के फैसले रदद् किये जाएं क्योंकि जनतक अदारों को प्राइवेट हाथ मे सौंपकर इनका खामियाजा आज कोविड 19 के चलते देश के 130 करोड़ लोग भोग रहें हैं। आज के रोष प्रदर्शन में स्कूल ,हस्पताल ,सरकारी कंट्रोल के तहत करने और बिजली ठेकेदारी ऑथोरिटी बिल 2020 की तजवीज को रद्द करने की मांग भी की गई ।इस मौके पर निशान सिंह चब्बा ,चरण सिंह कलेर ,मुखबैन सिंह जोधनगरी ,सुखदेव सिंह चाटीविंड ,हरबिंदर सिंह ,गुरभेज सिंह झंडे ,जगतार सिंह अब्दाल ,मुख्तार सिंह भंगवा ,कृपाल सिंह ,गुरदेव सिंह गगोमहल ,कश्मीर सिंह ,साहिब सिंह ककड़ ,प्रगट सिंह किरलगड़ ,लखविंदर सिंह डाला ,कुलवंत सिंह राजाताल हाजिर थे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।