उपायुक्त नरेश नरवाल ने दी जानकारी, कोरोना वायरस से बचाव के आवश्यक उपायों के साथ मंडियों में निरंतर जारी गेहूं-सरसों की खरीद|
April 27th, 2020 | Post by :- | 35 Views

पलवल जिला में 5.36 लाख क्विंटल गेहूं व 2342 मीट्रिक टन सरसों की हुई खरीद: नरेश नरवाल

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :-  राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बावजूद पलवल जिला में किसानों के गेहूं की खरीद करने के व्यापक प्रबंध के चलते गेंहू खरीद प्रक्रिया के आरंभ होने के चार दिन में ही मंडियों में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखकर अब तक लगभग पांच लाख 36 हजार 305 क्विंटल अधिक गेहूं खरीदा जा चुका है। वहीं हथीन व पलवल अनाज मंडी में सरसों के लिए बनाए गए विशेष खरीद केंद्रों पर 2342 मीट्रिक टन सरसों खरीदी जा चुकी है।

उल्लेखनीय है कि जिला की मुख्य अनाज मंडियों के साथ ही अतिरिक्त खरीद केंद्रों पर गेहूं की खरीद सुचारू ढंग से जारी है। जिन मंडियों व अतिरिक्त खरीद केंद्रों पर दस हजार क्विंटल से अधिक खरीद हो चुकी है उनमें होडल में अब तक 130270 क्विंटल, हसनपुर में 70335 क्विंटल, हथीन में 55012 क्विंटल, पलवल में 40426 क्विंटल, खांबी में 34868 क्विंटल, बड़ौली में 34682, धतीर में 28415 क्विंटल, सोम राइस मिल हसनपुर में 21688 क्विंटल, औरंगाबाद में 13400 क्विंटल, श्री बांके बिहारी राइस मिल हसनपुर में 12699 क्विंटल गेहूं की खरीद हो चुकी है। वहीं हथीन व पलवल की मंडियों में जिला के 137 गांवों के 914 किसानों की 2342 मीट्रिक टन सरसों खरीदी जा चुकी है। मंडियों में खरीद के साथ-साथ उठान का कार्य भी लगातार जारी है। पलवल खरीद केंद्र पर अब तक 802 मीट्रिक टन व हथीन में 1466 मीट्रिक टन सरसों की खरीद हो चुकी है।

उपायुक्त ने बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने खरीद कार्य में शामिल सभी किसानों, आढ़तियों, मजदूरों और सरकारी कर्मचारियों चाहे वह नियमित हो या आउटसोर्सिंग, को 10 लाख रुपये के जीवन बीमा देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि मंडियों में सोशल डिस्टेंस की पालना को लेकर अभी सीमित संख्या में किसानों को बुलाया जा रहा है लेकिन जिला के किसान निश्चिंत रहें उनकी फसलों का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। उन्होंने कहा कि 1925 रुपये प्रति क्विंटल की दर से गेहूं की कीमत मंडियों से गेहूं की उठान होने के साथ ही किसानों के खातों में जमा करा दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि गेंहू की खरीद के लिए 34 खरीद केन्द्र व सरसों के 2 खरीद केन्द्र स्थापित किए हैं। इन खरीद केन्द्रों में व्यवस्था बनी रहे, हर खरीद केन्द्र को सेनिटाईजेशन के अलावा हर किसान व कर्मचारी के लिए मास्क का प्रबंध किया गया है व हैंड सेनिटाइजर और थर्मल स्कैनिंग के भी प्रबंध किए गए हैं।

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि पलवल जिला में गेहूं की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद 20 अप्रैल को आरंभ हुई थी। जिला की मुख्य मंडियों व अतिरिक्त खरीद केंद्रों पर पहले दिन 16506 क्विंटल, दूसरे दिन 58911 क्विंटल, 22 अप्रैल को तीसरे दिन 71018 क्विंटल, 23 अप्रैल को एक लाख आठ हजार 740 क्विंटल, 24 अप्रैल को एक लाख 78 हजार 890 क्विंटल, 25 अप्रैल को 84 हजार 250 क्विंटल तथा 26 अप्रैल को 17 हजार 990 क्विंटल गेहूं की खरीद हुई।

उन्होंने बताया कि इस बार मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की उपज खरीदी जा रही है। सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को पुन: आरंभ कर दिया है। जिला में गेहूं व सरसों की सरकारी खरीद प्रक्रिया को सुचारू बनाए रखने के लिए 107 सरकारी स्कूलों में मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर नि:शुल्क पंजीकरण किया जा रहा है। किसानों को इस सुविधा का अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।