कर्मचारियों के भत्ते पर रोक लगाना गलत :- वरुण चौधरी।
April 27th, 2020 | Post by :- | 36 Views

अंबाला , मुलाना ( गुरप्रीत मुल्तानी )

सरकारी कर्मचारियों और पेंशनरों के महंगाई भत्ते ( DA ) की बढ़ोतरी में कटौती के केंद्र सरकार के फैसले को हल्का मुलाना विधायक वरुण चौधरी गलत करार दिया।उन्होंने कहा कि
लॉकडाउन महामारी के समय प्रदेश के डॉक्टर,पुलिसकर्मी, सफाई कर्मचारी, शिक्षक समेत सभी कर्मचारियों पर दो गुना काम का बोझ है। ऐसे समय में उनका डीए को काटकर उन्हें हतोत्साहित करना होगा। उन्होंने कहा कि सरकार निजी कंपनियों एवं उद्योगों से अपील करती है कि अपने कर्मचारियो का वेतन न काटे और समय से पहले वेतन दे, वही दूसरी तरफ सरकार द्वारा खुद के कर्मचारियों का हक मारना दुर्भाग्यपूर्ण होगा।
विधायक ने कहा कि सभी कर्मचारी संगठनों ने अपनी क्षमता के अनुसार खुद आगे आकर राहत कोष में मदद दी है। सरकार द्वारा इस कर्मचारी विरोधी फैसले से सभी कर्मचारी नाराज है भत्तों पर रोक लगने से कार्मिकों को इस समय जो वेतन मिल रहा है वह कम मिलेगा उन्होंने कहा कि जब पूरी दुनिया में कोरोना वायरस लोगों के लिए घातक साबित हो रहा है,खासकर बुजुर्गों के लिए तो ऐसे समय में महंगाई भत्ते में कटौती का फैसला उचित नहीं है. पेंशनभोगियों के लिए पेंशन ही एक मात्र सहारा है.उन्होंने सरकार से अग्रह किया कि सरकार अपने इस फैसले को वापिस ले।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।