कैथल में आज सुबह बारिश होने से मंडी में पड़ा लाखों कट्टे गेहूं हुआ तरबतर,
April 26th, 2020 | Post by :- | 32 Views
कैथल, लोकहित एक्सप्रैस, (ब्यूरो चीफ विशाल चौधरी ) ।  कैथल में आज सुबह बारिश होने से मंडी में पड़ा लाखों कट्टे गेहूं हुआ तरबतर, प्रशासन की तैयारियों की खुली पोल नहीं थे गेहूं को संभालने  नहीं थे पुरे  इंतजाम आज हमने बारिश के दौरान कैथल की अनाज मंडी का दौरा किया तो देखा मंडी में जगह-जगह पानी खड़ा था और खुले आसमान के नीचे गेहूं के कट्टे पानी में भीगे हुए थे इसी दौरान हमें अधिकारी दौरा करते हुए दिखाई दिए तो हमने बात की तो पूछा क्या आपको क्या लगता है नुकसान किसका है तो उन्होंने बताया कि किसान तो अपना गेहूं बेच कर चला गया है और आढ़ती  का भी कोई नुकसान नहीं है या नुकसान सरकार का है और जल्द ही हम लकड़ी के डांगे लगाएंगे जो गेहूं पानी में डूबा नहीं होगा उसे सुखाया जाएगा परंतु जो गेहूं हूं किसान का अभी तक बिका नहीं है वह  परेशान है अब गेहू  सूखने के बाद ही किसान का गेहूं बिकेगा क्योंकि नमी  ज्यादा होने की वजह से गेहूं की सरकारी खरीद नहीं होती है इसका जिम्मेदार कौन है ?
कैथल में आज तेज बारिश से कैथल के मंडियों में गेहूं केलाखो कट्टे  भीग गए गौरतलब है कि जैसे ही मंडी में गेहूं की आवक तेज हो रही है वैसे ही मौसम का मिजाज भी बिगड़ता दिखाई दे रहा है । आज सुबह सुबह आई अचानक से आई बारिश ने जिला की मंडी में गेहूं केलाखो कट्टो को भिगो दिया । इसके इलावा धरतपुत्रो के  खेत खलिहान में पड़ा अनाज भी बारिश के कारण भीग गया। अचानक से आई बारिश से जिनका गेहू नहीं बिक  पाया वो  धरतीपुत्र  काफी परेशान हो गए क्योंकि पहले ही कोरोना के कारण प्रवासी मजदूरों नही मिल।रहे थे और जैसे तैसे कटाई शुरू हुई अब बरसात की मार किसान असहाय नजर आ रहा है

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।