आढ़ती झरना व पंखा लगाकर ही गेहूं की करें तुलवाई, मंडी इंस्पैक्टर निर्धारित समय पर उठान की करें कार्यवाही, कौताही वाले अधिकारी के खिलाफ होगी कार्यवाही -उपायुक्त निशांत कुमार यादव।
April 25th, 2020 | Post by :- | 83 Views

करनाल,(रजत शर्मा)। उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने आढ़तियों को निर्देश दिए किसानों की गेहूं की फसल साफ करके लें, झरना व पंखा लगाना जरूरी है।

यदि कोई आढ़ती ऐसा नहीं करता तो उसका लाईसेंस रद्द किया जाएगा और मंडियों में जो इंस्पैक्टर दी गई समय सीमा के अंदर गेहूं की लिफ्टिंग नहीं करवाएगा उसे सस्पेंड किया जाएगा।

जिले की मंडियों में जो भी गेहूं आए उसका उठान भी शीघ्र करवाया जाए, इसमें किसी प्रकार की कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

उपायुक्त शनिवार को लघु सचिवालय स्थित उपायुक्त कार्यालय में गेहूं की खरीद को लेकर संबंधित अधिकारियों और परचेज एजेंसियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि रोजाना जितनी भी लिफ्टिंग हो उसका प्रमाण पत्र रोजाना मंडी सचिव को संबंधित एसडीएम को देना होगा।

उन्होंने कहा कि जिले में करीब 60 प्रतिशत गेहूं आ चुका है और वह खुद सभी मंडियों का दौरा कर रहे हैं ताकि किसानों को और आढ़तियों को किसी प्रकार की कोई समस्या ना आए।

उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्र में पडऩे वाली मंडियों व परचेज सैंटरों का लगातार दौरा करें तथा 26 से 30 अप्रैल के बीच अनुमानित बारिश की संभावना को देखते हुए तिरपाल का विशेष प्रबंध करें, गेहूं को भीगने से बचाएं।

उन्होंने बताया कि हैफेड द्वारा 107681 मीट्रिक टन गेहूं खरीदी जा चुकी है जिसमें से 21689 गेहंू की लिफ्टिंग हो चुकी है। इसी प्रकार से हरियाणा वेयर हाऊसिंग कार्पोरेशन ने 16707 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की है जिसमें 2903 मीट्रिक टन गेहूं की लिफ्टिंग हो चुकी है।

इसी प्रकार एफसीआई द्वारा 480 मीट्रिक टन गेहूं खरीदी जा चुकी है जिसमें से 480 गेहंू की लिफ्टिंग हो चुकी है।
इनके अलावा खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा 151000 मीट्रिक टन गेहूं खरीदी जा चुकी है जिसमें से 31000 गेहंू की लिफ्टिंग हो चुकी है।

उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कहा कि गेहूं की लिफ्टिंग में तेजी लाएं। उपायुक्त ने कहा कि सभी मंडियों में लॉकडाउन को देखते हुए सोशल डिस्टैसिंग का पालन करवाएं तथा सैनिटाईजर का प्रयोग करें और सभी को मास्क लगवाना सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर एडीसी अनीश यादव, करनाल के एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक, एसडीएम घरौंडा गौरव कुमार, एसडीएम इंद्री सुमित सिहाग, डीएफएससी अनिल कुमार सहित संबंधित अधिकारी व परचेज एजेंसियों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।