बीबीएन में पुलिस के नवीनतम प्रयास, लॉकडाउन की पालना को लेकर महिला आरक्षियों ने फ्लैग मार्च करते हुए नारों को किया प्रदर्शित
April 25th, 2020 | Post by :- | 33 Views

बद्दी ! कोविड-19 के खतरे के दृष्टिगत जहां पुलिस बल हर समय कानून एवं व्यवस्था की स्थिति यथावत बनाए रखने के लिए अपने परिवारों से दूर रहकर समर्पण के साथ कार्य कर रहे हैं वहीं जन-जन को जागरूक बनाने के लिए नवीन प्रयासों से सभी का ध्यान अपनी और आकर्षित भी कर रहे हैं।
इस सम्बन्ध में अधिक जानकारी प्रदान करते हुए बद्दी के पुलिस अधीक्षक रोहित मालपानी ने कहा कि कोराना वायरस के खतरे में पुलिस के जवान न केवल दिन-रात जिला की सीमाओं की सुरक्षा कर रहे हैं अपितु कफ्र्यू के समय यह सुनिश्चित बना रहे हैं कि लोग नियमों का पालन कर सुरक्षित रहें।
उन्होंने कहा कि बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ में कोविड-19 के खतरे के कारण तैनात पांचवी महिला आरक्षी बटालियन बस्सी की महिला आरक्षियों ने केवल एक रात्रि में लोगों को जागरूक करने के लिए अत्यन्त सुन्दर एवं अर्थपूर्ण नारे लिखकर तैयार किए। तदोपरान्त फ्लैग मार्च करते हुए इन नारों को प्रदर्शित किया और लोगों को जागरूक किया। इनके माध्यम से लोगों को कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न खतरे को देखते हुए घर पर ही रहने और वायरस से बचाव के अन्य उपाय बताए गए।
रोहित मालपानी ने कहा कि इस अनूठे प्रयास के माध्यम से लोगों को और बेहतर ढंग से यह समझाने में सहायता मिलेगी कि अमूल्य जीवन को बचाकर रखने के लिए संकट के इस समय में नियमों एवं सोशल डिस्टेन्सिग का पालन कितना आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि पुलिस बल ने क्षेत्र की सब्जी मण्डी में सब्जी विक्रेताओं को निर्देश दिए कि सब्जी की दुकानों एवं रेहड़ी इत्यादि के मध्य कम से कम 10 फुट की दूरी रखी जाए ताकि कहीं भी भीड़ एकत्र न हो सके।
रोहित मालपानी ने कहा कि बद्दी-बरोटीवाला-नालागढ़ क्षेत्र में पुलिस बल कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के साथ-साथ आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी जैसे कार्य भी सुनिश्चित कर रहा है ताकि लोगों को किसी समस्या का सामना न करना पड़े।
पुलिस जवानों के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखा जा रहा है और उन्हें फेस शील्ड, हैण्ड सैनिटाईजर, मास्क इत्यादि उपलब्ध करवाए गए हैं। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि नियमों का पालन करें और पुलिस को सहयोग दें ताकि कोराना वायरस के खतरे से पार पाया जा सके।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।