एटीएम से रुपये निकालते समय नकदी व एटीएम कार्ड लूटने वाले  युवक को लोगों ने मौके पर पकडक़र पुलिस के हवाले किया|
April 25th, 2020 | Post by :- | 34 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट):-  एटीएम मशीन से रुपये निकालते समय नकदी व एटीएम कार्ड लूटने वाले एक युवक को लोगों ने मौके पर पकडक़र पुलिस के हवाले कर दिया जबकि उसका दूसरा साथी भागने में कामयाब हो गया। पकड़ा गया युवक वर्ष 2016 में जेसीबी मशीन चालक की हत्या में अपराधी पाया गया था जो फिलहाल जमानत पर आया हुआ था। आरोपी के कब्जे से 15 एटीएम कार्ड व एक क्लोन मशीन को भी बरामद किया गया है। कैंप थाना पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश कर गहन पूछताछ के लिए दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया हुआ है।

डीएसपी सुनील कादयान ने बताया कि गांव घोड़ी निवासी सतबीर ने शिकायत दर्ज कराई है कि वह और उसका साथी राजेश निवासी मोहन नगर 24 अप्रैल को किठवाड़ी मोड़ पर एक्सिस बैंक की एटीएम मशीन से रुपये निकालने गए थे। राजेश जब रुपये निकाल रहा था तो वहां पर मौजूद दो युवकों में से एक युवक जबरन सहायता करने लगा। राजेश ने जब मना किया तो उक्त युवक 2 हजार रुपये निकालने के बाद एटीएम कार्ड को बदलने लगा। विरोध करने पर दोनों लडक़ों ने राजेश के साथ मारपीट शुरू कर दी।

पीडि़त ने लोगों की मदद से एक युवक को मौके पर ही दबोच लिया जबकि उसका दूसरा साथी भागने में कामयाब हो गया। पकड़े गए युवक ने अपना नाम नाजीम निवासी गांव सोफ्ता हाल निवासी किरायेदार जवाहर नगर व अपने साथी का नाम समीर (मुस्तकीन) निवासी गांव घाघोट बताया। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उनकी जेसीबी मशीन पर मुबारिक निवासी गांव सैशन (राजस्थान) चालक था।

वर्ष 2016 में मशीन चोरी करने के शक में मुबारिक की हत्या कर दी थी। जिस संबंध में सदर थाना पुलिस ने मृतक चालक मुबारिक के पिता की शिकायत पर मामला दर्ज किया था। हत्या के मामले में आरोपी नाजीम जेल में बंद था जो कि अगस्त वर्ष 2019 में जमानत पर आया था। आरोपी के कब्जे से 15 एटीएम कार्ड व एक क्लोन मशीन को बरामद हुई है। पुलिस ने शनिवार को आरोपी को अदालत में पेश कर दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। रिमांड अवधि के दौरान आरोपी से अन्य वारदातों के बारे में व उसके साथी की गिरफ्तारी को लेकर गहन पूछताछ की जाएगी।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।