महिला एवं बाल विकास डोर टू डोर सर्वे में लोगों को कोरोना संक्रमण बारे कर रहा है जागरूक।
April 24th, 2020 | Post by :- | 38 Views


अम्बाला:(अशोक शर्मा) लॉक डाउन की स्थिति में सामाजिक संस्थाओं द्वारा जरूरतमंद लोगों की सेवा करने का काम निरंतर जारी है। अम्बाला शहर के साथ-साथ अम्बाला छावनी में भी समाज सेवी संस्थाओं ने जरूरतमंद लोगों की सहायता करते हुए प्रशासन का सहयोग किया है। शैल्टर होम में रह रहे प्रवासी श्रमिकों को अपना समझते हुए संस्थाओं द्वारा यहां रह रहे लोगों के लिये भोजन की व्यापक व्यवस्था की गई है। साथ ही छोटे बच्चों व महिलाओं के लिये दूध व बिस्कुट की भी व्यवस्था की गई है। जिला अम्बाला में 21 शैल्टर होम में लगभग 3600 लोग रह रहे हैं। जिला प्रशासन द्वारा इन लोगों के लिये जहां बेहतर व्यवस्था की गई है, वहीं उनकी नियमित रूप से स्वास्थ्य जांच भी की जाती है। तनाव से दूर रखने के लिये यहां पर योग भी करवाया जाता है।
अम्बाला शहर में समाज सेवी विनोद कुमार, पूजा साड़ी से समाज सेवी ऋषभ अग्रवाल व खन्ना फार्म के संचालक निरंतर जरूरतमंद लोगों की सेवा कर रहे हैं। सेवा के रूप में वह जरूरतमंद लोगों को चावल, आटा, चीनी, दाल, तेल, नमक, मिर्च, हल्दी सहित जरूरत का अन्य सामान उपलब्ध करवा रहे हैं। इसके अलावा लंगर की सेवा द्वारा भी जरूरतमंद लोगों को खाना पंहुचा रहे हैं। इस कार्य में सरदार जसपाल सिंह समाज सेवी संस्थाओं द्वारा प्राप्त सूखे राशन को गरीब लोगों तक पंहुचाकर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इसी प्रकार अम्बाला छावनी में गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के मार्गदर्शन में अग्रवाल धर्मशाला सेंटर से जरूरतमंद लोगों को नियमित रूप से सूखा राशन उपलब्ध करवाने का काम किया जा रहा है। तीसरे सप्ताह के तहत जरूरतमंद लोगों को राशन उपलब्ध करवाया गया है ताकि किसी के भी सामने भूख की स्थिति उत्पन्न न हो सके।
जिला प्रशासन द्वारा जहां प्रवासी मजदूरों के लिये कार्य किये गये हैं, वहीं नारायणगढ़ स्थित गांव कक्कड माजरा के सरकारी स्कूल में प्रवासी मजदूरों द्वारा स्कूल के सौंदर्यकरण के तहत रंग रोग व पेंटिंग का कार्य किया जा रहा है। प्रवासी श्रमिक अपनी कला से स्कूल में सौंदर्यकरण का कार्य कर रहे हंै। इसके अलावा जिला के सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों में मास्क बनाने का काम किया जा रहा है तथा नारायणगढ़ स्थित चाईल्ड केयर सेंटर में यह मास्क भी उपलब्ध करवाए गए हैं। शैल्टर होम्ज में लगभग 129 महिलाएं रह रही हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जहां उनके स्वास्थ्य की जांच की जाती है। महिलाओं को गणेश विहार स्थित अस्थाई वन स्टॉप सेंटर के बारे में भी महिलाओं को जानकारी दी जा रही है। इसके साथ-साथ हैल्पलाईन नम्बर 181 की जानकारी भी दी गई है ताकि महिलाएं अपने साथ किसी भी तरह की अनहोनी की शिकायत इस नम्बर पर करके सहायता प्राप्त कर सकती हैं। जिला में स्थापित ईंट-भट्ठों पर जाकर भी जरूरतमंद महिलाओं को सैनिटरी पैड उपलब्ध करवाए गए हैं तथा पूरे जिला में विभाग की टीम द्वारा लॉक डाउन की हिदायतों की पालना करने बारे जागरूक करने का काम भी किया जा रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।