लॉकडाउन में भी माता-बहनों के चेहरे पर लौटाई प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना ने चमक|
April 24th, 2020 | Post by :- | 61 Views

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत उपभोक्ताओं को नहीं वहन करना पड़ेगा सिलेंडर रिफिल कराने का खर्च|
सरकार से मिलेगी अप्रैल-मई-जून में पात्र उपभोक्ताओं को सिलेंडर रिफिल कराने के लिए आर्थिक मदद

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट):-  कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान गरीब व जरूरतमंदों की मदद के लिए सरकार की एक ओर योजना मददगार साबित हुई है। जी हां, हम बात कर रहे हैं प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की। इस योजना के तहत अप्रैल-मई-जून माह के दौरान घरेलू रसोई गैस कनेक्शन धारकों को नि:शुल्क सिलेंडर मिलेंगे। जिसके तहत सभी पात्र कनेक्शन धारकों के बैंक खातों में 740 रुपए प्रतिमाह राशि भेजी जा रही है। जिससे कनेक्शन धारक संबंधित एजेंसी पर भुगतान कर अपना सिलेंडर प्राप्त कर सकता है।
जिला में योजना के 42843 उपभोक्ता लाभार्थी
उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की पहल पर आरंभ इस योजना के तहत जिला में 42843 माताएं-बहनें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन धारक है। जिला में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार की हिदायतों के अनुसार लॉकडाउन की घोषणा की गई है। जिसके चलते गरीब व जरूरतमंद परिवारों के घरों में खाने-पीने की कमी न हो, इसके लिए जिला प्रशासन ने सामाजिक संस्थाओं की मदद से तैयार भोजन व सूखा राशन पहुंचाने का कार्य व्यापक स्तर पर किया है लेकिन घर का चूल्हा जलता रहे इसके लिए प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना बेहद कारगर साबित हो रही है। इस योजना के तहत अप्रैल, मई और जून माह के लिए सिलेंडर रिफील कराने के लिए सरकार की ओर से सभी उपभोक्ताओं को 740 रुपए की राशि प्रतिमाह भेजी जाएगी।
हर महीने उठाना होगा योजना का लाभ
जिला खाद्य एवं पूॢत नियंत्रक रामअवतार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना के तहत अप्रैल माह की राशि संबंधित उपभोक्ताओं के खाते में भेजी जा रही है। जिस उपभोक्ता ने इस राशि से अप्रैल माह में अपना सिलेंडर रिफील करा लिया उन्हीं उपभोक्ताओं को मई माह के लिए राशि जारी की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला के सभी 20 एलपीजी वितरकों को आदेश जारी कर दिए है कि उज्ज्वला योजना के लाभाॢथयों को अधिक से अधिक इस योजना का लाभ उठाने के लिए प्रेरित किया जाए। इस योजना के तहत सरकार ने तीन माह तक गैस सिलेंडर रिफील कराने में मदद का निर्णय लिया ताकि उपभोक्ता को लॉकडाउन में घर के चूल्हा-चौका की चिंता न करनी पड़े।
सरकार की मदद से रसोई की चिंता खत्म
लॉकडाउन के दौरान घर की आमदनी प्रभावित होने का सबसे ज्यादा असर रसोई पर पड़ता है लेकिन सरकार की इस योजना ने चूल्हा जलाने की चिंता को खत्म कर दिया है। यह मानना है नई बस्ती में रहने वाली ममता का। ममता ने बताया कि सरकार की इस योजना से अब तीन महीने तक सिलेंडर के खर्च से निजात मिली है। वहीं सल्लागढ़ में रहने वाली आरती, नीतू व गीता आदि ने बताया कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत उन्होंने एक दिन पहले ही सिलेंडर रिफिल कराया है। सरकार से मिली मदद के जरिए इस बार सिलेंडर भरवाने में एक रुपया भी खर्च नहीं करना पड़ा।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।