डी.सी. ने अपने कार्यालय में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने सम्बन्धी विषय को लेकर चल रहे कार्यों की करी समीक्षा
April 24th, 2020 | Post by :- | 32 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) लॉक डाउन की अनुपालना और कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये सभी विभाग अपनी-अपनी क्षमता और दक्षता अनुसार अहम भूमिका अदा कर रहे हैं। सभी विभागों का अमला कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में जुटा है। सार्थक और सारगर्भित प्रयासों के चलते जिला प्रशासन को इस कार्य में सफलता भी मिली है। वर्तमान समय में देखा जाए तो जिला में कोरोना का एक भी पॉजिटिव केस नही है। यह बात उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने स्थानीय उपायुक्त कार्यालय में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने सम्बन्धी विषय को लेकर आयोजित की गई समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं लॉक डाउन की हिदायतों की पालना करने बारे जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बेहतर समन्वय के साथ कार्य करते हुए अपनी डयूटी को बूखबी निभाने का कार्य किया जा रहा है। लॉक डाउन में प्रशासन के समक्ष काफी चैलेंज रहे हैं, जिनका अधिकारियों ने सभी के सहयोग से बेहतर कार्य करते हुए उस चैलेंज के अनुरूप कार्य कर्तव्यनिष्ठïा और लग्न के साथ किया है। यही कारण है कि हम जिला में कोरोना के संक्रमण को रोकने में काफी हद तक कामयाब रहे हैं। 
उपायुक्त ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि कोरोना कोविड-19 के चलते 22 मार्च को हरियाणा में लॉक डाउन किया गया था और 23 मार्च को पूरे देश में लॉक डाउन घोषित कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि डिस्ट्रीक डिजास्टर मैनेजमैंट अथॉरिटी के तहत जिला प्रशासन ने शुरूआती दौर में ही एक लाख मास्क व 5 हजार सैनिटाइजर खरीदने का काम किया था। इसके अलावा कोरोना कोविड के तहत जो भी आवश्यक हिदायतें थी, उसके अनुरूप कार्य करना भी शुरू कर दिया था, जो अब भी जारी है। उपायुक्त ने जानकारी के क्रम में यह भी बताया कि गांवो में व शहरों में लगे ठीकरी पहरे काफी सकारात्मक रहे हैं, सरपंचो व अन्य लोगों ने इन ठीकरी पहरों को सफल बनाने का काम किया है। जिला में कोई भी कोरोना संक्रमित मरीज नही है। जो मरीज चंडीगढ़ में उपचाराधीन हैं, वह कोरोना संक्रमित नही है बल्कि किसी अन्य बीमारी के चलते चंडीगढ़ पीजीआई में दाखिल है। कोरोना वायरस के मद्देनजर जिला में 125 तब्लीगी जमात के लोगों को क्वारंटीन करने का काम किया गया, 5 तबलीगी जमात के लोग जो कोरोना से संक्रमित पाए गए थे, उन्हें भी उपचार देकर ठीक करने का काम किया गया। लॉ एंड ऑर्डर एवं लॉक डाउन की हिदायतों की पालना भी सुनिश्चित की गई है।
उपायुक्त ने कहा कि जिला में कोई भी व्यक्ति लॉक डाउन में भूख से प्रभावित नही हुआ है, यह बड़ी खुशी की बात है। बाहरी राज्यों के अधिकारियों ने जिला प्रशासन द्वारा प्रवासी श्रमिकों के लिये किये गये प्रबन्धों के दृष्टिïगत सराहना की। उन्होंने कहा कि जो इंतजाम किये गये हैं, वह बहुत सराहनीय रहे तथा सभी अधिकारियों ने बेहतर समन्वय के साथ कार्य किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये हिदायतों की पालना निरंतर की जाए तथा लोग भी इस कार्य के लिये सचेत रहें, तभी हम कोरोना के चक्र को तोडऩे में कामयाब होंगे। 
बैठक में पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल, एडीसी जगदीप ढंाडा, नगर निगम आयुक्त पार्थ गुप्ता, एसीयूटी अखिल पिलानी, एस्टेट ऑफिसर सतेन्द्र सिवाच, नगराधीश कपिल शर्मा, सीईओ अशोक शर्मा, सिविल सर्जन डा0 कुलदीप सिंह, जिला परिषद चेयरमैन सुरेन्द्र राणा, एसई सिंचाई विभाग देवेन्द्र कम्बोज, डीआरओ कैप्टन विनोद शर्मा, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, डीडीपीओ प्रताप सिंह, डीएफएससी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।