गणपति अपने भक्तों के विघ्नहर्ता व सुखकर्ता हैं:- पंडित राधे राधे महाराज।
September 2nd, 2019 | Post by :- | 105 Views

पानीपत (अमित जैन)

स्थानीय श्री अवध धाम मंदिर सेवा समिति एवं श्री अवध धाम मंदिर के तत्वाधान में पंच दिवसीय अवध धाम के गणपति नामक महोत्सव का प्रातः काल की बेला में पृथ्वी पूजन दीप पूजन नवग्रह पूजन एवं पूजन के साथ ही प्रारंभ हुआ।

विद्वान ब्राह्मणों ने पंडित राधे-राधे महाराज के सानिध्य में पार्थिव गणपति का वैदिक विधि के द्वारा शास्त्रों एवं सनातन परंपरा के द्वारा मंत्रों के द्वारा गणपति जी के अंदर प्राणों का आवाहन किया गया एवं चलित प्राण प्रतिष्ठा की गई विधिवत पूजन के उपरांत गणपति बप्पा का आवाहन किया गया।

सभी देवी देवताओं के आवाहन के उपरांत विशेष गणपति स्रोत के द्वारा भगवान गणपति की पूजन की गई गणपति जी के पूजन व सिंगार के बाद एवं आवाहन के बाद 1100 दूब भारत पवित्र घास की माला बनाकर गणपति जी को अर्पित की गई। मुख्य यजमान करण कंसल एवं साक्षी कंसल ने गणपति जी का पूजन कर मोदक का भोग लगाकर प्रसाद वितरण किया गया।

साईं काल की बेला में महिला संकीर्तन मंडल ने महोत्सव में भजन गाकर वातावरण भक्तिमय बना दिया। प्रसिद्ध कथावाचक राधे-राधे महाराज ने प्रवचन करते हुए कहा गणपति जी अपने भक्तों के विघ्न को हारते हैं वह अपने भक्तों को सुख प्रदान करते हैं यदि हम अपना कोई भी कार्य निर्विघ्न चाहते हैं।

यह गणपति अतिथि गणपति कहलाते हैं अतिथि की तरह गणपति का स्वागत करना चाहिए इन 11 दिनों में मर्यादित होकर सनातनी परंपरा का निर्वाह करते हुए हमें गणपति बप्पा की आराधना उपासना करनी चाहिए।

प्रवचन के उपरांत 108 दीपों के साथ विधिवत गणपति जी का आरती किया गया ढोल नगाड़ों के साथ भक्ति भाव के साथ गणपति जी की वैदिक एवं मंगल आरती की गई। सभी श्रद्धालुओं को बधाई दी।

इस अवसर पर पंडित दाऊजी महाराज।करण कंसल साक्षी कंसल। महामंत्री विनोद लिखा। सचिव सतीश तागरा। चेयरमैन डॉ रमेश चुघ। राजू शर्मा पंडित वेद पाराशर अमित मक्कड़ राजेश मलिक तिलक राज मिगलानी ओमप्रकाश विरमानी सुंदर चावला अनिल शर्मा मनदीप गोस्वामी पवन गोस्वामी अशोक नारंग मोहनलाल सैनी हरज्ञान सैनी आदि उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।