करनाल जिला ने करीब 7 लाख क्विंटल गेंहू की खरीद करके प्रदेश में अव्वल स्थान किया हासिल- उपायुक्त निशांत कुमार यादव।
April 23rd, 2020 | Post by :- | 40 Views

करनाल,(रजत शर्मा)। रबी सीजन के दौरान मंडियों में गेंहू की आवक दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है और गेंहू खरीद का कार्य जोरो पर है। प्रदेश की विभिन्न मंडियों में गत दिवस तक करीब 28 लाख क्विंटल गेंहू की आवक हुई जिसमें से अकेले करनाल जिला ने करीब 7 लाख क्विंटल गेंहू की खरीद करके प्रदेश में अव्वल स्थान हासिल किया है।

यह जानकारी उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बुधवार को निसिंग अनाज मंडी का दौरा करने उपरांत मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान दी। उपायुक्त ने इससे पहले अनाज मंडी में उपस्थित आढ़तियों व किसानों से बातचीत की और गेंहू खरीद कार्य के बारे में जानकारी हासिल की।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि गेंहू खरीद कार्य में किसी प्रकार की देरी ना हो, किसान तक एसएमएस और फोन पर मंडी में फसल लाने की सूचना एक दिन पहले अवश्य पहुच जानी चाहिए, गेट पास में कोई दिक्कत ना आने दें, मंडी में आने वाले किसानों को मास्क उपलब्ध करवाई तथा किसानों व मजदूरों को सेनेटाईज अवश्य करवाए। कोरोना वायरस महामारी को हराने के लिए अनाज मंडियों में सोशल डिस्टेंश की अनुपालना सुनिश्चित की जाए।

उन्होंने मार्किं ट कमेटी सचिव को निर्देश दिए कि आढ़तियों के पास पर्याप्त मात्रा में बारदाना भी उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करें और इसके अतिरिक्त किसानों की सुविधाओं का भी पूरा ध्यान रखा जाए।

उन्होंने गेंहू की लिफ्ंिटग भी समय पर करवाने के निर्देश दिए। इस मौके पर उपायुक्त ने आढ़ती के स्टॉक रजिस्टर तथा कांटे पर गेंहू की बोरी का तोल भी चैक किया।

उपायुक्त ने मीडिया को बताया कि जिला में कुल 172 स्थानों पर गेंहू खरीद का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है, कहीं पर भी कोई दिक्कत नही है। प्रशासन द्वारा आढ़तियों व किसानों की मांग पर बडी मंडियों में किसानों की संख्या 100 से बढ़ाकर 150 करने का निर्णय लिया गया है।

उन्होंने बताया कि आढ़तियों से किसानों की सूची ली गई है उसी के आधार पर किसानों को खरीद केंद्रों व अनाज मंडी में गेंहू लाने की सूचना दी जा रही है, यदि किसी किसान की टोकन वाले दिन गेंहू नही कटती है तो वह रविवार के दिन मंडी में आकर फसल बेच सकता है। उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकार के निर्देशानुसार पोर्टल पर रजिस्टर किसानों की गेंहू पहले खरीदी जाएगी।

जिला में करीब 80 हजार किसान है जिनमें से 65 हजार किसानों ने पोर्टल पर अपना रजिस्टे्रशन करवाया है, जिन किसानों ने अब तक मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर रजिस्टर नही किया है, उनकों अवसर देते हुए अनाज मंडियों में दो विंडों खोली गई है, जिस पर वह अपना पंजीकरण करवा सकते है ताकि उन्हें अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की असुविधा का सामना ना करना पडें।

इस अवसर पर करनाल के एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक, नायब तहसीलदार रामकुमार, मंडी सचिव सुमन लत्ता, सुपरवाईजर कर्ण सिंह उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।