दून में कोई जरुरतमंद परिवार भूखा नहीं सोने दिया जाएगा-परमजीत सिंह पम्मी
April 21st, 2020 | Post by :- | 86 Views

– विधायक ने मलपुर में राशन वितरित करने के बाद दी जानकारी…

-कार्यक्रम की अध्यक्षता पंचायत प्रधान पोलाराम चौधरी ने की…

बद्दी ! दून विधानसभा क्षेत्र के किसी भी जरूरतमंद परिवार को भूखा नहीं सोने दिया जाएगा। सभी परिवारों को राशन मुहैया करवाने की पहल दून विधानसभा क्षेत्र में शुरू की गई है। यह बात दून विधानसभा हलके के विधायक परमजीत सिंह पम्मी ने कही। मैदानी क्षेत्रों के अभियान की शुरूआत मंगलवार से मलपुर पंचायत से की गई है। कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्राम पंचायत मलपुर के प्रधान पोलाराम चौधरी ने की। दून विधायक ने कहा कि इस अभियान में बीपीएल के अलावा जितने भी जरूरतमंद परिवार होंगे उन्हें राशन किट मुहैया करवाई जाएगी। इसमें आटा, चावल, साबुन, तेल, दाल आदि जरूरी सामग्री शामिल होगी। उन्होंने कहा कि राशन किट में पांच किलो चावल तथा पांच किलो आटा शामिल है। उन्होंने कहा कि बहुत से परिवार ऐसे होते हैं जो बीपीएल कैटागिरी में नहीं आतेे लेकिन उन्हें भी इस संकट के दौर में राशन की जरूरत है ऐसे लोगों की पहचान करके उन्हें राशन किट मुहैया करवाई जाएगी। परमजीत सिंह ने कहा कि पंचायतों में वार्ड पंच की मदद से ऐसे लोगों की पहचान करके जरूरतमंद लोगों को राशन किट मुहैया करवाई जाएगी। विधायक ने यह राशन किटें अपनी ऐच्छिक निधी से खर्च की है जिसकी पंचायत प्रधान पोलाराम चौधरी व उपप्रधान गुरदास चंदेल ने कंठमुक्त सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूरों को जिला प्रशासन राशन मुहैया करवा रहा है। लेकिन मेरे विधानसभा क्षेत्र में जो जरूरतमंद लोग हैं, उन्हें राशन मुहैया करवाने की पहल मैं अपने तौर पर कर रहा हूं। ग्राम पंचायत मलपुर के प्रधान पोला राम चौधरी ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा भी इससे पहले जरूरतमंद लोगों को सूखा राशन मुहैया करवा गया था। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत में विधायक द्वारा मास्क भी वितरित किए गए। इस मौके पर भारतीय मजदूर संघ के राज्य कार्यकारी अध्यक्ष मेलाराम चंदेल, प्रीतम सिंह सैणी, दसौंधी राम चंदेल, गत्ता उद्योग संघ के प्रधान हेमराज चौधरी, श्रवण चंदेल जिला भाजपा सचिव, कार्यायल सचिव बीएमएएस राजू भारद्वाज समेेत कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।