संतों की निर्मम हत्या की खिलाफ परिषद ने सरकार से उच्च स्तरीय जांच की मांग की
April 20th, 2020 | Post by :- | 171 Views

चण्डीगढ़, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )  ।       विश्व हिन्दू परिषद चंडीगढ़ ने 16 अप्रैल  को श्री पंचदशनाम  जूना अखाड़े के दो संतो की जिला पालघर महाराष्ट्र में शर्मनाक, दुखद,  निर्मम हत्या की  परिषद ने कठोर निंदा की।

विश्व हिंदू परिषद चंडीगढ़ के धर्माचार्य संपर्क प्रमुख गिरवर शर्मा ने कहा कि यह एक घृणित निंदनीय कृत्य है। एक अति दुखद, शर्मनाक, हृदय विदारक घटना है।संत समाज तो सभी के भले की कामना करते हैं। यह केबल एक धर्म के लिए ही नहीं सोचते अपितू विश्व के पूरे समाज के लिए रक्षा स्तंभ के  समान हैं। संतों की पूजा पाठ एवं भक्ति और ध्यान से इस पृथ्वी पर आने वाले संकट टलते हैं। इन संतों की इस प्रकार निर्मम हत्या अत्यंत ही घृणित कृत्य है। संत समाज केवल प्रार्थना नहीं करते, अपितु घर बार सब त्याग कर पूरे विश्व के मंगल की कामना करते हैं।विश्व हिन्दू परिषद चंडीगढ़ के मंत्री सुरेश राणा ने बताया की दो साधु संत कल्पवृक्ष गिरि उम्र 70 वर्ष,संत सुशील गिरी उम्र 35 वर्ष उनके ड्राइवर निलेश तेलगड़े  के साथ मुंबई से गुजरात के लिए निकले थे। जिला पालघर महाराष्ट्र के थाना  क्षेत्र के गढ़चिंचले गांव के पास लॉकडाउन होने के बावजूद भारी भीड़ ने संतों  की कार को रोककर पलट दिया और जमकर पथराव किया। उपद्रवियों ने  तीनों को लाठी-डंडे, से पीट-पीटकर बेरहमी से मार डाला।

यह एक अति दुखद, शर्मनाक, हृदय विदारक घटना है। परिषद में इस घटना को लेकर भारी आक्रोश है और परिषद मांग करती है की इस घटना की उच्चस्तरीय जांच हो ओर  दोषियो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए और संतो के रक्षा के लिए उचित कदम उठाये जाए

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।