चौकी इंचार्ज गहरी मंडी पर अवैध रूप से मारपीट करने और झूठा मामला दर्ज करने की धमकी देने के लगे आरोप ।
April 20th, 2020 | Post by :- | 194 Views
चौकी इंचार्ज  गहरी मंडी पर अवैध रूप से मारपीट करने और झूठा मामला दर्ज करने के लगे आरोप ,

चौकी इंचार्ज ने आरोपों को सिरे से नकारा ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
दिलबाग सिंह निवासी गहरी मंडी ने जानकारी देते हुए बताया कि वह पल्लेदार का काम करता है कल भी वह स्पेशल के दौरान रेलवे स्टेशन पर अनलोडिंग का काम कर रहा था ।इसी दौरान किसी ने रंजिश ले चलते मेरी झूठी शिकायत आर पी एफ में कर दी ।जिन्होंने ने जांच निर्दोष पाया और छोड़ दिया ।लेकिन उसे बाद मुझे चौकी गहरी मंडी में पकड़वा दिया ।जहाँ पर चौकी इंचार्ज गहरी मंडी और एक अन्य पुलिस कर्मी ने मुझे बुरी तरह मारपीट की ।जिसके चोटों के निशान मेरी कमर ,शरीर के इलावा पांव में भी है ।वहीं पीड़ित की पत्नी ने कहा कि जब वह शाम को अपनी पत्नी को लेने के लिए पुलिस चौकी गहरी मंडी पहुंची तो उसने मेरे पति को छोड़ने के लिए 50 हज़ार रुपये मांगे ।उसने कहा कि वह गरीब परिवार है और उनके लिए इतने पैसे देना उनकी बस की बात नही है ।वह मजबूरन घर आ गई ।लेकिन बाद में पुलिस ने उसे कुछ देर बाद छोड़ दिया।जब वह घर मे आए तो उनकेशरीर पर जगह जगह चोटों के निशान थे और दर्द से चिल्ला रहे थे। पीड़ित परिवार ने इस मामले में उच्च अधिकारियों से इंसाफ गुहार लगाई है ।
वही इस मामले में चौकी इंचार्ज गहरी मंडी ए एस आई हरजिंदर सिंह से बात की गई तो उन्होंने ने कहा कि हम इस व्यक्ति को चौकी लाए नही और ना ही इसकी हमारे पास शिकायत है ।उन्होंने ने अपने पर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उन पर लगाये गए आरोप निराधार हैं क्योंकि उस व्यक्ति को यूनियन वालों ने पकड़ कर पीटा था ।
फ़ोटो कैप्शन :पीड़ित अपने शरीर लगी चोटों को दिखाता है ,
ए एस आई हरजिंदर सिंह की तस्वीर ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।