आरोग्य सेतु’ एप के बारे में गांव बड़ी बस्सी के युवा कर रहे लोगों को जागरूक।
April 19th, 2020 | Post by :- | 117 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा) उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने कहा कि सरकारी स्कूलों के बच्चों के लिए एजुसैट के माध्यम से पढ़ाई की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कि केबल पर एजुसेट के माध्यम से हरियाणा सरकार द्वारा चार चैनल उपलब्ध करवाए गए हैं। अम्बाला में फास्टवे केबल के चैनल नम्बर 296, 297, 298 व 299 पर एजुसेट के चैनल उपलब्ध हैं। इन चैनलों पर कक्षा के अनुरूप टीचरों द्वारा बच्चों को पढाया जा रहा है ताकि लॉकडाउन में विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित न हो। उन्होंने बताया कि विद्यार्थी घर बैठकर ही एजुसैट के माध्यम से शिक्षा हासिल कर सकता है उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत लगे लॉकडाउन के मद्देनजर सरकारी स्कूलों के बंद होने के कारण बच्चों की पढ़ाई को समुचित ढंग से करवाने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा पुरजोर तरीके से कार्य किए जा रहे हैं, इसी कड़ी में एजुसेट के माध्यम से विद्यार्थियों को शिक्षा दी जा रही है। शिक्षा विभाग के उप जिला शिक्षा अधिकारी सुधीर कालड़ा ने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा प्रसारित किए जाने वाले कार्यक्रमों का कक्षावार एवं विषयवार टाईमटेबल निश्चित किया गया है जिसके आधार पर बच्चे अपनी रूचि एवं आवश्यकताअनुसार कार्यक्रम देख सकते हैं। यदि किसी कारणवश वह कोई कार्यक्रम नहीं देख पाते हैं तो वे उस कार्यक्रम का उसी दिन सांय पुन: प्रसारण देख सकते हैं।
शहजादपुर:कोरोना वायरस से बचाव के लिए जहां सरकार एवं प्रशासन लोगों को स्वास्थय विभाग की एडवाइजरी का पालन करने के बारे में जागरूक कर रहे है वहीं ग्रामीण युवा भी इस बारे में ग्रामवासियों को जागरूक कर रहे है।
गांव बड़ी बस्सी के युवा गांव में डोर टू डोर जाकर लोगों को इस बारे में जागरूक करने का काम कर रहे है। युवा सुरेन्द्र राणा, अनिल व गुरजीत ने बताया कि कोविड-19 से बचाव के लिए ‘आरोग्य सेतु’ एप के बारे में लोगों को बताया जा रहा है। इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए गांव में घर-घर जाकर जानकारी दी जा रही है। अब तक 50 लोगों के पास ‘आरोग्यसेतु’ एप को डाउनलोड करवा कर इसके बारे में जानकारी दी जा चुकी है। आज गांव में आटा चक्की के पास इस बारे में युवाओं ने ग्रामवासियों की जानकारी दी।
आरोग्यसेतु एप के डाउनलोड होने के बाद कोरोना संक्रमित व्यक्ति के नजदीक आते ही संकेत मिलता है और कोविड-19 से बचाव की जानकारी मिलती है। इसमें स्व: परीक्षण की सुविधा है। यदि आप जाने-अनजाने में किसी कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आते है, तो आपको सूचित किया जाएगा, ऐप अलर्ट के माध्यम से निर्देश दिये जाएगें।
यदि आपको सेल्फ-आइसोलेट होने की आवश्यकता है, या आप में कोविड-19 के लक्ष्ण विकसित होते है, तो उस स्थिति में सहायता की जाएगी। आरोग्यसेतु एप के साथ आप स्वयं की, अपने परिवार और मित्रों की कोविड-19 से सुरक्षा कर सकते है और राष्ट्र को इससे लडऩे में सहायता कर सकते है।
ग्रामीण युवा लोगों को जागरूक करते हुए इस एप की विशेषताएं भी बता रहे है कि यह एप लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण पकडऩे के जोखिम का आकलन करने में सक्षम करेगा, 11 भाषाओं में यह एप उपलब्ध है तो इसलिए खुद भी डाउनलोड करें और अपने नजदीकी लोगों को इस बारे में जानकारी दें। अपडेट रहने के लिए ‘आरोग्य सेतु’ एप को नियमित रूप से चेक करें। कोरोना वैश्विक महामारी से घबराये नहीं सावधान रहें, समय पर चिकित्सा, सुरक्षा और स्वच्छता के साथ हम कोरोना वायरस के प्रसार को रोक सकते है। सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखें।
उल्लेखनीय है कि सरकार ने कोविड-19 का दृढ़ता से मुकाबला करने के लिए भारत के लोगों को एकजुट करने के उद्देश्य से ‘आरोग्यसेतु’ एप की शुरूआत की है। ‘आरोग्यसेतु’ नाम का यह ऐप प्रत्येक भारतीय के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए डिजिटल इंडिया से जुड़ा है। ‘आरोग्य सेतु’ एप को लोकप्रिय बनाना आज के समय की जरूरत है ताकि अधिक से अधिक संख्या में इसे डाउनलोड करना सुनिश्चित किया जा सके। इस एप के द्वारा कोविड-19 से जुड़ी सारी जानकारियां मिल पाएगीं, कोरोना वायरस संक्रमण के खतरें और जोखिम का सटीक आकलन, कोरोना के लक्षणों के आधार पर स्व-आकलन की सुविधा तथा सभी राज्यों के हेल्प डेस्क नंबर्स उपलब्ध है। इस महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में यह एप एक आवश्यक साधन साबित होगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।